Home » इंडिया » Mumbai-Goa highway bridge collapse: 2 buses with 22 people onboard, missing
 

रायगढ़: मुंबई-गोवा हाईवे पर ब्रिटिशकालीन पुल टूटा, दो बसों के 22 यात्री लापता

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2016, 18:28 IST
(एएनआई)

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के महाड़ में भारी बारिश के बाद ब्रिटिशकालीन पुल बह गया. इस दौरान मुंबई-गोवा हाईवे पर बना यह पुल अस्सी फीसदी तक टूटकर गिर गया.

बताया जा रहा है कि सावित्री नदी में बाढ़ की वजह से दो बसें और तीन गाड़ियां बह गई हैं. बसों में सवार 22 यात्री लापता बताए जा रहे हैं. मुंबई से करीब 175 किलोमीटर दूर हुए इस हादसे के बाद मुंबई-गोवा हाईवे के दोनों ओर लंबा ट्रैफिक जाम लग गया.

भारतीय तट रक्षक बल ने लापता वाहनों की तलाशी के लिए चेतक हेलीकॉप्टर भेजे हैं. रायगढ़ के एएसपी संजय पाटिल के मुताबिक पुल टूटने से यात्रियों से भरी दो बसें बह गई हैं, जिनमें 22 यात्री सवार थे.

एनडीआरएफ की टीमें मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई हैं. भारी बारिश और पुल के पास जलभराव की वजह से रेस्क्यू में परेशानी आ रही है. बताया जा रहा है कि यह हादसा मंगलवार रात करीब सवा ग्यारह बजे हुआ.

रायगढ़ के महाड़ में भारी बारिश के बाद ब्रिटिशकालीन पुल टूट गया. (एएनआई)

महाड़ में दो समानांतर पुल थे, एक नया पुल है और एक का निर्माण ब्रिटिश काल के दौरान हुआ है. बताया जा रहा है कि भारी बारिश के बाद पुराना वाला पुल ढह गया है. इस बीच रेस्क्यू ऑपरेशन में राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की भी मदद ली जा रही है.

एएनआई

भारतीय नौसेना भी लापता यात्रियों की तलाश में मदद कर रही है. एक दूसरे मिशन में लगे सी किंग 42-बी हेलीकॉप्टर को भी सर्च ऑपरेशन के लिए डाइवर्ट किया गया है.

एएनआई

अब तक का घटनाक्रम

  • महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में हाईवे पर बड़ा हादसा.
  • महाड़ में भारी बारिश के बाद ब्रिटिशकालीन पुल ध्वस्त.
  • सावित्री नदी में बाढ़ से मुंबई-गोवा हाईवे पर बना पुल ढहा.
  • दो बसें और कई गाड़ियां बहीं, 22 यात्री लापता.
  • मुंबई से करीब 175 किलोमीटर दूर हुआ हादसा.
  • सर्च ऑपरेशन में कोस्ट गार्ड और एनडीआरएफ की मदद.
  • अभियान में एनडीआरएफ की 4 टीमें और 12 नाव शामिल.
  • चेतक और सी किंग 42-बी हेलीकॉप्टर अभियान में जुटे.
  • सावित्री नदी में तलाशी अभियान के दौरान दो शव बरामद.

First published: 3 August 2016, 18:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी