Home » इंडिया » My sister literally pleaded with folded hands to Smriti for help,but she did not stop
 

'अगर स्मृति ईरानी हमारी मदद करती तो मेरे पिता हमारे साथ होते'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

दो दिन पहले मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी के काफिले से टकराकर मारे गए व्यक्ति के बेटे ने हादसे के बाद ईरानी पर मदद नहीं करने का आरोप लगाया है.

हादसे में जान गंवाने वाले डॉक्टर रमेश नागर के बेटे अभिषेक नागर ने एफआईआर में आरोप लगाया है कि ईरानी दुर्घटना के बाद, मदद करने की जगह से आगे निकल गईं.

smriti1.jpg

हादसे में घायल अभिषेक की बहन संदिली ने आरोप लगाया है, 'स्मृति ईरानी की गाड़ी ने हमारी बाइक को टक्कर मारी जो बहुत ही धीमी गति से चल रही थी. हमारी बाइक गिर गई. मैंने मदद मांगी तो उन्होंने मना कर दिया. अगर वह चाहती तो हमारी मदद कर सकती थीं. अगर वह हमारी मदद करती तो मेरे पिता हमारे साथ होते.'

smriti2.jpg

वहीं इस आरोप के बाद स्मृति ईरानी के मंत्रालय से सफाई आई की हादसे वाली गाड़ी उनके काफिले का हिस्सा नहीं थी. साथ ही यह भी कहा गया है कि चोट लगने के बावजूद ईरानी कार से उतरी और उन्होंने खुद एसएसपी को फोन करके एंबुलेंस भेजने को कहा.

First published: 7 March 2016, 5:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी