Home » इंडिया » Narendra Modi app shares private data of users with American firm
 

'नरेंद्र मोदी ऐप' यूजर्स की निजी जानकारी भेज रहा है अमेरिकी कंपनी को : साइबर एक्सपर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 March 2018, 18:34 IST

एक फ्रांसीसी साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ इलियट एल्डरसन ने शुक्रवार को दावा किया गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एंड्रॉइड एप्लिकेशन इसके यूजर्स की निजी जानकारी उनकी सहमति के बिना थर्ड पार्टी कंपनी को उपलब्ध करवा रहा है.

इलियट एल्डरसन ने शुक्रवार देर रात कई ट्वीट करते हुए लिखा कि जब कोई यूजर नरेंद्र मोदी ऐप पर प्रोफाइल बनाता है, तब उसकी डिवाइस की जानकारी के साथ उसकी निजी जानकारी एक थर्ड पार्टी डोमेन in.wzrkt.com के साथ शेयर की जाती है, जो कि एक अमेरिकी कंपनी क्लेवर टैप से संबद्ध है.

एल्डरसन के इस दावे के बाद कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर लोगों से नरेंद्र मोदी एप को अपने मोबाइल से हटाने की अपील की है. पार्टी की सोशल मीडिया टीम ने इस बावत ट्विटर पर अभियान छेड़ा है. हालांकि बीजेपी ने इन आरोपों को झूठ बताया है और इसे कांग्रेस का प्रोपगैंडा करार दिया है.

कांग्रेस की सोशल मीडिया टीम का नेतृत्व कर रही दिव्या स्पंदना ने कहा है कि नमो एप को मोबाइल पर डाउनलोड करने के बाद इसके जरिये यूजर के निजी डाटा पर सेंधमारी की जाती है. उन्होंने कहा है कि लोगों को इस एप को अपने मोबाइल से तुंरत डिलीट करना चाहिए.


एंड्रॉइड डेवलपर एल्डर्सन ने दावा किया कि ऐप अपने उपयोगकर्ता के डिवाइस के बारे में विस्तृत जानकारी एकत्र करता है, जिसमें ऑपरेटिंग सिस्टम और नेटवर्क का प्रकार शामिल है, साथ ही व्यक्तिगत विवरण जैसे कि नाम, लिंग, फोटो और ईमेल पता उपयोगकर्ता की सहमति के बिना इसे तीसरे पक्ष के डोमेन पर भेजता है.

नरेंद्र मोदी ऐप इस जानकारी को इकठ्ठा करके in.wzrkt.com. नाम के डोमेन से शेयर करता है. उन्होंने यह भी बताया कि इस डोमेन को जी-डेटा (G-Data) कंपनी ने फिशिंग लिंक के रूप में क्लासीफाई कर रखा है. एल्डर्सन के मुताबिक यह डोमेन अमेरिकी कंपनी का है. हालांकि, कंपनी ने डोमेन के स्वामित्व को छुपाया है.

First published: 24 March 2018, 18:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी