Home » इंडिया » narendra modi gets emotional
 

रोहित वेमुला को याद कर भावुक हुए नरेंद्र मोदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 January 2016, 18:57 IST

रोहित वेलुमा आत्महत्या मामले में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को छात्रों का जबरदस्त विरोध झेलना पड़ा. लखनऊ में अंबेडकर विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अप्रत्याशित तौर पर छात्रों का विरोध देखने को मिला.

छात्रों ने रोहित वेमुला की आत्महत्या को लेकर पीएम के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की. समारोह की शुरुआत में ही छात्रों ने हंगामा करते हुए 'मोदी गो बैक' और 'रोहित हम शर्मिंदा हैं' के नारे लगाए. इसके बाद वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने हंगामा कर रहे छात्रों को समारोह से बाहर निकाल दिया.

इसके बाद मोदी ने अपना संबोधन फिर से शुरू किया. इस दौरान मृत रोहित का जिक्र करके प्रधानमंत्री भावुक हो गए. रोहित को याद करते हुए कहा, 'जब ये खबर मिलती है कि मेरे देश के एक नौजवान बेटे रोहित को आत्महत्या करने के लिए मजबूर होना पड़ता है तो उसके परिवार पर क्या बीती होगी. मां भारती ने अपना एक लाल खो दिया है. इसके कारण अपनी जगह पर होंगे. राजनीति अपनी जगह पर होगी, लेकिन सच्चाई ये है कि मां भारती ने अपना एक लाल खोया.'

वहीं दूसरी तरफ हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में फैकल्टी के बीच विरोध के स्वर काफी तेज होते जा रहे हैं. अब तक इस मामले में विश्वविद्यालय के 14 फैकल्टी और नॉन फैकल्टी सदस्यों ने प्राशासनिक पदों से इस्तीफे दे दिया है.

ये सभी विश्वविद्यालय के एससी-एसटी टीचर्स एवं अधिकारी फोरम के सदस्य हैं. इस्तीफा देने वालों में कंट्रोलर ऑफ इग्जामिनेशन प्रो. वी कृष्णन, चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ रवींद्र कुमार और चीफ वॉर्डेन डॉ जी नागराज प्रमुख हैं.

इनके अलावा 10 वॉर्डेन और हैं, जिन्होंने अपने प्राशासनिक पदों से इस्तीफा दे दिया है. फोरम का यह भी कहना है कि केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने यह गलत बयान दिया है कि जिस कमेटी ने छात्रों को सस्पेंड करने का फैसला किया उसमें एक दलित प्रोफेसर भी शामिल था.

इस घटना के बाद दलित फैकल्टी के मन में थोड़ा भय बना हुआ है. उन्हें लग रहा है कि विश्वविद्यालय प्रशासन उन पर लगातार नजर रख रहा है.

First published: 22 January 2016, 18:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी