Home » इंडिया » Narendra Modi tweets India grieves the passing away of Bharat Ratna Shri Pranab Mukherjee
 

प्रणब मुखर्जी के निधन पर PM मोदी ने शेयर की भावुक कर देने वाली फोटो, हमेशा देते थे पिता का दर्जा

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 August 2020, 18:57 IST

Pranab Mukherjee Pass Away: देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का 84 साल की उम्र में निधन हो गया. उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भावुक कर देने वाली तस्वीर शेयर की. इस तस्वीर में प्रधानमंत्री उनका पैर छूते दिखाई दे रहे हैं. इसके अलावा एक और तस्वीर भी उन्होंने शेयर की. दूसरी तस्वीर में प्रणब मुखर्जी से पीएम मोदी बहुत ही शालीनता से मिलते नजर आ रहे हैं.

प्रणब मुखर्जी के निधन पर पीएम मोदी ने ट्वीट किया, "पूर्व राष्ट्रपति के महत्वपूर्ण योगदार को देश याद रखेगा. उनका सम्मान हर एक वर्ग में था. उन्होंने हमारे राष्ट्र को विकास के पथ पर ले जाने में एक अमिट छाप छोड़ी. वह एक विद्वान, एक राजनीतिज्ञ, एक  राजनीतिक स्पेक्ट्रम तौर पर समाज के सभी वर्गों द्वारा प्रशंसनीय थे."

दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद आशीर्वाद लेने पहुंचे थे घर

पीएम मोदी प्रणब मुखर्जी का बहुत सम्मान करते थे. साल 2019 में जब मोदी दूसरी बाद देश के प्रधानमंत्री बने थे तो वह प्रणब मुखर्जी का आशीर्वाद लेने उनके घर पहुंचे थे. तब मुखर्जी देश के राष्ट्रपति पद से रिटायर हो चुके थे. मुखर्जी ने पीएण मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया था. पीएम मोदी ने कहा था कि प्रणब दा से मुलाकात हमेशा अनुभव बढ़ाने वाला होता है.

प्रणब मुखर्जी के रिटायरमेंट पर PM मोदी ने लिखा था इमोशनल लेटर

जब प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति पद से रिटायर हो रहे थे तो पीएम मोदी ने एक बहुत ही भावुक कर देने वाला पत्र लिखा था. इस पत्र को प्रणब मुखर्जी ने खुद ट्विटर पर शेयर किया था. पीएम मोदी ने इस लेटर में लिखा था कि प्रणब मुखर्जी ने एक पिता की तरह उनको हमेशा सही रास्ता दिखाया. उन्होंने लिखा था कि उनके साथ सरकार का कभी कोई मतभेद नहीं हुआ.

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन, PM मोदी और राष्ट्रपति कोविंद ने जताया दु:ख

पीएम मोदी ने लिखा था कि प्रधानमंत्री के रूप में मेरे पास बहुत ही कठिन चुनौतियां थीं. उस दौरान आप हमेशा एक पिता और सलाहकार के रूप में मौजूद रहे. पीएम मोदी ने लिखा था कि भारत को आप पर गर्व होगा. आप एक ऐसे राष्ट्रपति थे जो विनम्र लोक सेवक और एक असाधारण नेता थे.

बता दें कि प्रणब मुखर्जी साल 2012 में देश के 13वें राष्ट्रपति बने थे. 25 जुलाई 2017 तक वह इस पद पर रहे थे. 26 जनवरी 2019 में प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. उनका जन्म 11 दिसम्बर 1935 को पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले में हुआ था. प्रणब मुखर्जी ने एक कॉलेज प्राध्यापक के रूप में अपना करियर शुरू किया था. 

कोरोना वायरस: सिर्फ 3 राज्यों महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में ही कोविड-19 के 43% मामले

अनुपम खेर ने प्रशांत भूषण के लिए मजे, कहा- एक रुपया दाम लगाया सुप्रीम कोर्ट ने बंदे का...

First published: 31 August 2020, 18:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी