Home » इंडिया » Narendra Modi: world must eleminate the supporter of terrorism
 

नरेंद्र मोदी: आतंकवाद को पनाह देने वालों को खत्म करना होगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2016, 19:39 IST

दशहरा के मौके पर प्रधानमंत्री का दिल्ली की परंपरागत रामलीला छोड़कर लखनऊ जाना लोगों को चौंका गया था. इसे लेकर तमाम सियासी अटकलें लगाई जा रही थीं. पर आतंकवाद को छोड़कर प्रधानमंंत्री का पूरा भाषण अराजनीतिक था.

दशहरा के मौक़े पर लखनऊ के ऐशबाग रामलीला स्थल पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को विजयादशमी की शुभकामनाएं देते हुए 'जयश्रीराम' के उद्घोष के साथ अपने भाषण की शुरुआत की.

प्रधानमंत्री के भाषण की महत्वपूर्ण बातें

  • बुराइयों को खत्‍म करने की क्षमता ईश्‍वर ने सबको दी हैं.
  • हमें अपने भीतर बुरी सोच रूपी रावण को खत्‍म करना है.
  • आतंकवाद मानवता का दुश्‍मन है.
  • प्रभु राम मानवता के उच्‍च मूल्‍य, आदर्शों का प्रतिनिधित्‍व करते हैं.
  • आतंकवाद के खिलाफ सबसे पहले लड़ाई जटायु ने लड़ी थी.
  • 26/11 के हादसे के बाद सारी दुनिया ने माना कि आतंकवाद कितना बड़ा खतरा है.
  • विश्‍व की मानवतावादी शक्तियों को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होना पडे़गा.
  • आतंकवाद को पनाह देने वालों को जड़ से खत्‍म करने की जरूरत पैदा हो गई है.
  • आतंक को पनाह देने वालों को बख्‍शा नहीं जा सकता.
  • आतंकवाद को खत्‍म किए बिना मानवता की रक्षा संभव नहीं.
  • गंदगी रूपी रावण से मुक्ति पाकर देश के गरीब परिवार, जो बीमारी और मौत के शिकार हो जाते हैं, हम उन्‍हें बचा सकते हैं.
  • बेटे और बेटी में अंतर कर हम कितनी सीताओं को मौत के घाट उतार देते हैं, हमारे भीतर मौजूद इस रावण को खत्‍म करना जरूरी है.
  • चाहे हम किसी भी समाज, संप्रदाय से क्‍यों न हो, बेटियां समान होनी चाहिए. महिलाओं के अधिकार समान होने चाहिए.
  • इस धरती का मार्ग युद्ध का नहीं, बुद्ध का है.

प्रधानमंत्री के भाषण से पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ऐशबाग़ रामलीला मैदान में उपस्थित लोगों को संबोधित किया. अपने भाषण में उन्होंने कहा कि लखनऊ मिली-जुली भारतीय संस्‍कृति की जीती-जागती मिसाल है. प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुएए उन्होंने कहा, 'शिखर पर मौजूद भ्रष्टाचार को रोकने पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कामयाबी पाई है.' राजनाथ ने आगे कहा कि रावण धनवान भी था और बलवान भी. रावण और राम में अगर अंतर है तो वह है चरित्र का.

इससे पूर्व यहां पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राम-लक्ष्मण-सीता-हनुमान की मंच पर आरती उतारी. पीएम मोदी के आने के चलते ऐशबाग रामलीला मैदान की किलेबंदी की गई थी. मंच पर राजनाथ सिंह के अलावा, राज्यपाल राम नाईक, यूपी बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य मौजूद रहे.

लखनऊ एयरपोर्ट पर यूपी के राज्यपाल राम नाइक, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उनका स्वागत किया.

First published: 11 October 2016, 19:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी