Home » इंडिया » Nathuram Godse's hanging day was celebrated as sacrifice day, police filed case
 

नाथूराम गोडसे की फांसी वाले दिन को मनाया था बलिदान दिवस, पुलिस ने दर्ज किया मामला

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2019, 13:15 IST

देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को जिस दिन फांसी दी गई थी, उस दिन को कुछ लोगों ने 'बलिदान दिवस' के तौर पर मनाया था और उस दिन गोडसे की पूजा की थी. अब ऐसा करने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. गोडसे की पूजा करने वाले नरेश बाथम और उनके साथियों की पुलिस तलाश कर रही है.

इस मामले में कांग्रेस के प्रदेश सचिव रविंद्र सिंह चौहान ने ग्वालियर की कोतवाली में मामला दर्ज कराया था. रविंद्र सिंह चौहान ने शिकायत की थी कि हिंदू महासभा के कार्यालय में नाथूराम गोडसे का 'बलिदान दिवस' मनाया गया था. इस कार्यक्रम में ऐसे पर्चे बांटे गए थे, जिनमें महात्मा गांधी के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया था.

इस मामले में पुलिस ने नरेश बाथम सहित कई अन्य लोगों के खिलाफ भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज किया है. ग्वालियर परिक्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) राजबाबू सिंह ने बताया कि हिंदू महासभा के लोगों द्वारा जो पर्चे बांटे गए हैं उनकी भाषा आपत्तिजनक है. शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया है और इसकी जांच शुरू कर दी गई है.

एडीजी ने बताया कि ऐसे आयोजनों से देश व समाज का माहौल बिगड़ता है, पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई शुरू की है. गोडसे की पूजा के समय की तस्वीरें और वीडियो उपलब्ध हैं, जिस आधार पर जांच की जाएगी और आरोपियों पर कार्रवाई होगी.

दरअसल, हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को ग्वालियर के दौलतगंज कार्यालय में नाथूराम गोडसे के फांसी वाले दिन को 70वें बलिदान दिवस पर मनाकर गोडसे की पूजा-अर्चना की थी. इसके साथ ही कुछ पर्चे भी बांटे गए थे.

गायब हुए BJP सांसद गौतम गंभीर ! दिल्ली के ITO इलाके में लगे लापता होने के पोस्टर्स

महाराष्ट्र में शिवसेना से झटका खा चुकी BJP, झारखंड में चुनाव पूर्व नहीं करना चाहती गठबंधन !

First published: 17 November 2019, 13:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी