Home » इंडिया » national herald edition the website launch President Pranab Mukherjee expresses concern over incidents of public lynching
 

भीड़ के बढ़ते हमलों पर राष्ट्रपति ने जतार्इ चिंता, बोले- 'ऐसी घटनाओं को सहन नहीं कर सकते'

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 July 2017, 8:34 IST

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को नेशनल हेराल्ड के स्मारक संस्करण को लॉन्च किया. इस कार्यक्रम में प्रियंका गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कई विपक्षी दलों के नेता भी मौजूद रहे. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि भीड़ द्वारा लोगों को जान से मारने की घटनाओं पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है. इसके दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि ऐसी घटनाओं पर उनका खून खौलता है.

नेशनल हेराल्ड के संस्करण की लॉन्चिंग के मौके पर राष्ट्रपति ने अपनी संवेदना को रखा. इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी मोदी सरकार पर हमला बोला. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नेशनल हेराल्ड अखबार के स्मरणीय संस्करण और वेबसाइट के लॉन्च के मौके पर देश में भीड़ द्वारा लोगों को जान से मारने की घटनाओं को जोरशोर से उठाया. राष्ट्रपति ने कहा कि ऐसी घटनाओं पर हमें गंभीरता से विचार करना चाहिए. उनका यह बयान गोरक्षा के नाम पर देशभर में होने वाली हिंसा के संदर्भ में था.

सोनिया गांधी ने हाल में लोगों पर भीड़ के हमलों का ज़िक्र करते हुये सरकार पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई न करने के लिए निशाना साधा और कहा, "आज भारत का विचार असहिष्णुता की वजह से खतरे में पड़ गया है. आज कुछ ताकतें लोगों को बताती हैं कि कि वह क्या नहीं खा सकते, वह क्यों हंस या बोल नहीं सकते और क्या नहीं सोच सकते.

स्वयंभू संस्कृति की वजह से ये हिंसा बढ़ रही है और इसे उनका समर्थन है जिन पर कानून लागू करने की ज़िम्मेदारी है. ये हमारी चेतना पर हर रोज होने वाला हमला है आज भारत एक चौराहे पर खड़ा है जहां तानाशाही और पक्षपात का बोलबाला है. हम आज जिस विचार तो समर्थन देंगे कल वही हमारे देश की पहचान बनेगा."

First published: 2 July 2017, 8:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी