Home » इंडिया » Navjot singh sidhu air strike congress bjp terrorist question tree
 

Air Strike को लेकर सिद्धू ने किया सवाल, क्या सिर्फ पेड़ उखाड़ने ही गए थे?

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2019, 13:10 IST

भारतीय वायुसेना द्वारा 26 फरवरी को किए गए एयर स्ट्राइक के बाद विपक्षी पार्टियां कई तरह के सवाल उठा रही है. अपने विवादित बयानों से सुर्खियां बटोरने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर केन्द्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाते हुए ट्वीट कर लिखा, "क्या वहां 300 आतंकी मारे गए हैं या नहीं? अगर नहीं तो इसका क्या मकसद था? क्या सिर्फ पेड़ उखाड़ने ही गए थे?"

उन्होंने कहा क्या वहां आतंकी मारने गए थे या फिर पेड़ उखाड़ने गए थे. क्या ये सिर्फ एक चुनावी नौटंकी थी. उन्होंने लिखा कि सेना का राजनीतिकरण करना बंद करें. उन्होंने आगे लिखा, "जितना देश पवित्र है उतनी ही सेना भी पवित्र है. ऊंची दुकान, फीका पकवान." इस ट्वीट के अलावा नवजोत सिंह सिद्धू ने एक वीडियो ट्वीट भी किया है, जिसमें बालाकोट के कुछ स्थानीय निवासी कह रहे हैं कि वहां कुछ भी नहीं हुआ है.

मालूम हो कि सिद्धू इससे पहले भी पुलवामा अटैक के बाद किए गए अपने बयान से विवादों में घिर चुके हैं. उन्होंने पुलवामा अटैक को लेकर कहा था कि क्या कुछ लोगों की करतूत के लिए पूरे देश को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि आतंकवादियों का कोई देश नहीं होता, कोई मजहब नहीं होता, कोई धर्म नहीं होता है और कोई जात नहीं होती.'

PAK मीडिया ने रिश्तेदारों के हवाले से किया दावा, कहा- जिंदा है मसूद अजहर

पुलवामा हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली थी. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाने वाले सिद्धू ने कहा, ''कुछ लोगों के लिए क्या आप पूरे देश को जिम्मेदार ठहरा सकते है और क्या आप किसी व्यक्ति को जिम्मेदार ठहरा सकते हो? यह कायरतापूर्ण कार्रवाई है और मैं सख्ती से इसकी निंदा करता हूं. हिंसा हमेशा निंदनीय है और जिन लोगों ने यह किया उन्हें सजा मिलनी चाहिए''

उनके इस बयान के बाद पूरे देश की जनता ने उनकी कड़ी निंदा की. सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ कैंपेन चला था और उन्हें द कपिल शर्मा शो से हटा दिया गया था. बता दें कि अमित शाह ने अहमदाबाद के एक रैली में दावा किया है कि एयरस्ट्राइक में 250 आतंकी मारे गए हैं. जिसके बाद से ही कई बड़े नेताओं ने सवाल दागे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस नेता मनीष तिवारी, कपिल सिब्बल ने पूछा है कि अगर सेना ने कोई संख्या नहीं बताई तो बीजेपी अध्यक्ष को ये कैसे पता चला.

Pak हिरासत में 60 घंटे रहने के बाद भी जज्बा नहीं हुआ कम, अभिनंदन जल्द उड़ना चाहते हैं फाइटर जेट

First published: 4 March 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी