Home » इंडिया » NDA govt eyes Rs 17,500-cr navy chopper deal with US
 

मोदी सरकार जल्द कर सकती है अमेरिका से 17,500 करोड़ की डिफेंस डील

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 June 2019, 11:45 IST

नई मोदी सरकार अपने पहले रक्षा अनुबंध के रूप में इस साल के अंत तक अमेरिका से 17,500 करोड़ के नौसैनिक हेलीकॉप्टरों का सौदा कर सकता है. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार दो अधिकारियों ने नाम न बताने की शर्त पर इसका खुलसा किया है. भारत नौसेना की पनडुब्बी रोधी / सतह-रोधी और निगरानी क्षमताओं को मजबूत करने के लिए 24 लॉकहीड मार्टिन-सिकोरस्की MH-60R हेलीकॉप्टर खरीद रहा है.

मल्टी-रोल हेलीकॉप्टर (MRH) की खरीदारी अमेरिकी सरकार के विदेशी सैन्य बिक्री (FMS) कार्यक्रम के तहत की जा रही है. भारतीय नौसेना अपने बेड़े में पुराने हो चुके विमानों को बदलने की योजना बना रहा है. रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों ने कहा कि "इस साल अक्टूबर-नवंबर तक अमेरिका के साथ अनुबंध पूरा होने की उम्मीद है. जबकि अनुबंध पर हस्ताक्षर किए जाने के 18 महीने बाद डिलीवरी शुरू होने की उम्मीद है.

 

एजीएम -114 हेलफायर मिसाइल, एमके 54 टॉरपीडो और उन्नत सटीक मारक हथियार प्रणाली रॉकेटों से लैस हो सकते हैं. नौसेना फ्रांस के डिजाइन किए गए चेतक हेलिकॉप्टरों के अपने पुराने बेड़े को बदलने के लिए रणनीतिक भागीदारी (एसपी) मॉडल के तहत भारत में 111 नौसैनिक उपयोगिता हेलीकॉप्टरों (एनयूएच) के निर्माण की योजना बना रही है.

परियोजना के लिए प्रतिस्पर्धा करने वाली विदेशी फर्मों की तकनीकी बोलियां सोमवार को खोली गईं. अमेरिकी फर्म लॉकहीड मार्टिन, यूरोपीय एयरबस हेलीकॉप्टर्स और रूसी हेलीकॉप्टर ~ 21,738-करोड़ की परियोजना पर नजर गड़ाए हुए हैं जिसमें भारतीय फर्मों की साझेदारी में स्थानीय स्तर पर हेलिकॉप्टरों का निर्माण शामिल है.

अभी भी लापता है IAF का AN-32 विमान, सर्च अभियान में इसरो भी हुआ शामिल

 

 

First published: 5 June 2019, 11:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी