Home » इंडिया » NEET 2019: Three girl suicides after not qualified exam from TamilNadu
 

NEET 2019: फेल होने पर तीन लड़कियों ने की आत्महत्या, तमिलनाडु में उठने लगी यह मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2019, 14:16 IST

NEET 2019 परीक्षा का परिणाम बुधवार (5 जून) को घोषित किया गया है. इस परीक्षा में असफल रहीं तीन युवतियों ने अपने घर में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. इसके बाद राज्य में जोर-शोर से इस परीक्षा को बायकॉट करने की मांग उठने लगी है. विपक्षी पार्टियों ने सरकार के ऊपर NEET परीक्षा से अलग होने की दो साल पुरानी मांग को एक बार फिल बल दे दिया है.

विपक्षी पार्टियों ने सरकार से मांग की है कि राज्य को इस परीक्षा से अलग हो जाना चाहिए. अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम के महासचिव टीटीवी दिनाकरण ने आरोप लगाया कि नीट एक अन्याय परक परीक्षा है. उन्होंने कहा कि इस परीक्षा की वजह से ग्रामीण इलाकों के लोग जो चिकित्सा की पढ़ाई करना चाहते हैं वह अपने सपने को पूरा नहीं कर पा रहे है.

द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन ने परीक्षा का परिणाम आने के एक दिन बाद कहा कि उनकी पार्टी के सांसद इस मुद्दे को सदन में उठाएंगे. उन्होंने कहा कि वह राज्य को इस परीक्षा से छूट देने की मांग करेंगे. वहीं मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेता के. बालाकृष्णन ने भी उनकी मांग का समर्थन किया.

एमडीएमके नेता वाइको ने परीक्षा को लेकर कहा कि पीड़ित या तो गरीब मजदूरों परिवार के बच्चे होते हैं या फिर मध्यम वर्ग के बच्चे होते हैं. उन्होंने कहा कि गरीब बच्चे नीट परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंगों में लाखों रूपये फीस में खर्च करने में असमर्थ हैं.

बता दें कि एम मोनिशा ने  लगातार दूसरे साल नीट परीक्षा को पास करने में विफल रहने पर आत्महत्या कर ली है. वहीं तिरुपुर की एस रितुश्री और पुदुकोट्टई की एन वैशिया ने भी नीट परीक्षा में असफल रहने के बाद आत्महत्या कर ली.

धोनी के ग्लव्स में बने 'बलिदान बैज' में ऐसा क्या है जिसे लेकर क्रिकेट गलियारों में मच गया तूफान?

साल 2014 में PM मोदी को जीत दिलाने वाले प्रशांत किशोर ममता बनर्जी को जिताएंगे पश्चिम बंगाल

First published: 7 June 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी