Home » इंडिया » Never been director of any of the companies mentioned in connection with Panama Papers: Amitabh Bachchan
 

पनामा पेपर्स लीक: अमिताभ बच्चन ने चुप्पी तोड़ी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2016, 19:19 IST

पनामा पेपर्स लीक मामले में नाम सामने आने के बाद अमिताभ बच्चन ने अपनी सफाई पेश की है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार अमिताभ ने कहा है कि अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की खबर में जिन कंपनियों का नाम दर्ज है वह उसके कभी डायरेक्टर नहीं रहे हैं. बिग बी के अनुसार यह संभव है कि उनके नाम का गलत इस्तेमाल किया गया हो.

एनडीटीवी में छपी खबर के अनुसार अमिताभ ने कहा, 'मैंने सभी करों का भुगतान किया है. इसमें वह रकम भी शामिल है जिसे मैंने विदेश में खर्च किया. विदेशी खातों में जो पैसा मैंने जमा किया है वह कानून के मुताबिक है और यह रकम भारत में कर चुकाने के बाद जमा की गई. इंडियन एक्सप्रेस में आई खबर कहीं से भी मेरे द्वारा की गई किसी अवैध कार्य की तरफ इशारा नहीं करती.'

गौरतलब है कि इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन को 1995 में अमिताभ बच्‍चन कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एबीसीएल) के शुरू होने से दो साल पहले उन्हें चार शिपिंग कंपनियों में मैनेजिंग डायरेक्‍टर बनाया गया था.

इनमें एक कंपनी ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में जबकि तीन कंपनियां बहामास में थीं. इन कंपनियों की आध‍िकारिक तौर पर कुल पूंजी 5 हजार से 50 हजार डॉलर के बीच में थी, लेकिन ये कंपनिया उन शिप्स का कारोबार कर रही थीं, जिनकी कीमत करोड़ों में थी.

ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड और पनामा को टैक्स हेवन (ऐसा देश जहां काला धन छिपाया जाता है) के रूप में जाना जाता है. मध्य अमेरिका स्थित देश पनामा की लॉ फर्म कंपनी मोसाक फोसेंका के अतिगोपनीय दस्तावेज लीक होने के बाद अमिताभ बच्चन का सामने आया था.

फोंसेका के करीब एक अरब दस लाख लीक दस्तावेज से पता चलता है कि कंपनी ने किस तरह अपने ग्राहकों के काले धन को वैध बनाने, प्रतिबंधों से बचने और कर चोरी में मदद की.

First published: 5 April 2016, 19:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी