Home » इंडिया » New IAF Chief takes big decision, 300 fighter jets to be purchased from HAL
 

नए IAF चीफ ने लिया बड़ा फैसला, HAL से खरीदे जाएंगे 300 फाइटर जेट

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 November 2019, 9:20 IST

वायुसेना प्रमुख एयर मार्शल आरके सिंह भदौरिया ने स्वदेशी लड़ाकू विमानों को खरीदने का बड़ा निर्णय लिया है. भदौरिया ने हाल ही में वायु सेना प्रमुख का पदभार संभाला था. भारतीय वायु सेना (आईएएफ) ने सरकार से कहा है कि वह हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के लगभग 300 स्वदेशी रूप से निर्मित लड़ाकू विमानों और बेसिक ट्रेनर को खरीदना चाहती है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार एक वरिष्ठ रक्षा मंत्रालय के अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि इस सौदे पर सरकार को कई अरब डॉलर की लागत आएगी. रिपोर्ट के अनुसार आईएएफ का कहना है कि विमान का डिजाइन, निर्माण और वितरण को निर्धारित समय सीमा के भीतर होना चाहिए. 

अधिकारी ने कहा "एरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (एडीए) और एचएएल को एक साथ आना होगा. एडीए रक्षा अनुसंधान विभाग और रक्षा मंत्रालय के तहत काम करता है और भारत के एलसीए (हल्के लड़ाकू विमान) कार्यक्रम की देखरेख करता है. IAF ने सरकार से कहा है कि वह तेजस मार्क- II के 10 स्क्वाड्रन को खरीदने के लिए प्रतिबद्ध है. लड़ाकू विमानों के अलावा, IAF ने सरकार से यह भी कहा है कि वह नए बने ट्रेनर विमान HTTP -40 को भी खरीदेगी.

IAF ने तेजस के शुरुआती संस्करण के 40 लड़ाकू विमानों को पहले भी खरीदा था. रिपोर्ट के अनुसार एक अधिकारी ने कहा 83 स्वदेशी रूप से निर्मित तेजस मार्क -1 फाइटर्स की खरीद के लिए अंतिम अनुबंध पर वर्तमान वित्तीय के अंत तक हस्ताक्षर किए जाएंगे. भारतीय वायुसेना और एचएएल के बीच बातचीत अंतिम चरण में है.

करतारपुर कॉरिडोर: पाकिस्तान ने वही किया जिसका भारत को डर था, स्वागत सॉन्ग में भिंडरावाले

First published: 7 November 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी