Home » इंडिया » New Zealand First celebrates new year in the world Sky Tower Auckland is the famous point of celebration of New Year eve, Happy New Year 201
 

दुनिया में सबसे पहले यहां के लोग बोलते हैं Happy New Year

विकाश गौड़ | Updated on: 31 December 2017, 13:36 IST
(Instagram)

साल 2017 का रविवार यानी आज (रात 12 बजे तक) आखिरी दिन है. लोग 31 दिसंबर की रात को जश्न में डूबे रहते हैं. रात बारह बजे के बाद से लोग एक दूसरे को न्यू ईयर विश करते नजर आते हैं. हालांकि विश्व के कुछ देश ऐसे भी हैं जहां नए साल की पूर्व संध्या पर होने वाला जश्न शुरू हो चुका है.

दरअसल, बात बस टाइमिंग की है. भारत की अपेक्षा कुछ देशों की टाइमिंग में लगभग आठ घंटे का अंतर है. यही कारण है कि वहां भारतीय समय के अनुसार करीब चार बजे नया दिन लग जाता है. ऐसे में नया साल भी वहां के लोग भारत की अपेक्षा पहले मनाना शुरू कर देते हैं. साथ ही नए साल का आगाज होते ही लोग एक दूसरे को नव वर्ष की बधाइयां देना शुरू कर देते हैं.

 

हम बात कर रहे हैं न्यूजीलैंड की. यहां अब से कुछ देर बाद नए साल का आगाज हो जाएगा. दुनिया में नया साल सबसे पहले इसी देश में दस्तक देता है. इस दौरान न्यूजीलैंड के खूबसूरत शहर ऑकलैंड के स्काई टावर का नजारा बेहद शानदार होता है. इसे खूबसूरत नजारे को देखने के लिए न्यूजीलैंड के ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों के लोग यहां जुटते हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हर नए साल के मौके पर स्काई टावर के बाहर हजारों लोगों की भीड़ होती है. मेजबान शहर और देश के अलावा विदेशों के लोग भी यहां के सेलिब्रेशन का लुत्फ उठाते हैं. बता दें कि यहां न्यू ईयर की ईव से शुरू होकर आतिशबाजी नए साल के आगाज तक होती रहती है. इस बीच स्काई टावर का नजारा काफी भव्य होता है.

 

File Photo (Instagram)

ये स्काई टावर के ऊपरी हिस्से का दृश्य है, जो आतिशबाजी के बाद बेहद मनमोहक लगता है. इसके साथ-साथ स्काई टावर के आस-पास शहर की कुछ बिल्डिंगों का नजारा बेहद खूबसूरत होता है. हालांकि सबसे पहले न्यू ईयर किरिबाती में मनाई जाती है जो एक छोटा आईलैंड है.

File Photo (Instagram)

बता दें कि स्काई टावर और समुद्र का कुछ हिस्सा ऐसा है जो इसकी खूबसूरती को बढ़ाने में चार चाँद लगाने का काम करता है. यही कारण है यहां न्यू ईयर सेलिब्रेशन के लिए लोग आते हैं.

File Photo (Instagram)
First published: 31 December 2017, 13:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी