Home » इंडिया » NIA clean chit to sadhvi pragya on male gao case
 

मालेगांव ब्लास्ट: एनआईए ने प्रज्ञा ठाकुर को दी क्लीन चिट

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 May 2016, 15:56 IST

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 2008 के मालेगांव ब्लास्ट मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को क्लीन चिट दे दी है.

जांच एजेंसी ने मुंबई की स्पेशल एनआईए कोर्ट में मामले से जुड़ी जो चार्जशीट दाखिल की है, उसमें साध्‍वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का नाम आरोपियों की लिस्ट से बाहर है. बचाव पक्ष के वकील ने भी इसकी पुष्टि की है.

pragya singh 2

एनआईए की ओर से दायर की चार्जशीट में महाराष्‍ट्र के पूर्व एटीएस चीफ और 26/11 आतंकी हमलों में शहीद हेमंत करकरे की ओर से की गई जांच पर भी कई तरह के सवाल उठाए गए हैं. 

एटीएस की जांच पर उठाए सवाल


चार्जशीट में बताया गया है कि हेमंत करकरे के द्वारा कर्नल प्रसाद पुरोहित सहित दूसरे मुख्य आरोपियों के खिलाफ जो भी सबूत दिखाए गए, वो पूरी तरह से मनगढंत थे और चश्मदीदों पर दबाव बनाकर बयान दर्ज कराए गए थे. 

एनआईए की चार्जशीट में बताया गया है कि महाराष्ट्र एटीएस ने 2008 में कर्नल पुरोहित की गिरफ्तारी से पहले देवलाली आर्मी कैंप स्थिति उनके क्वार्टर में विस्फोटक प्लांट किए थे. 

पढ़ें: कौन हैं प्रज्ञा ठाकुर और क्या है उनका मालेगांव ब्लास्ट से कनेक्शन ?

इस मामले में एनआईए के एक अधिकारी ने कहा कि हमारे पास यह साबित करने के लिए काफी सूबत हैं कि एटीएस ने ही पुरोहित के घर मे आरडीएक्स प्लांट किया था.

मकोका हटाने का फैसला


इसके साथ ही जांच एजेंसी ने कर्नल पुरोहित सहित दूसरे आरोपियों पर लगे महाराष्‍ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गनाइज्ड क्राइम एक्‍ट (मकोका) को भी हटाने का निर्णय लिया है. 

पढ़ें: एनआईए: समझौता ब्लास्ट में कर्नल पुरोहित के खिलाफ सबूत नहीं

एनआईए ने अपनी चार्जशीट में इन आरोपियों पर अनलॉफुल एक्‍टिविटीज (प्रिवेंशन) एक्‍ट (यूएपीए) के तहत मामला दर्ज किया है. एनआईए ने मुंबई की विशेष अदालत में इस मामले की चार्जशीट दाखिल की है.

pragya singh

गौरतलब है कि 29 सितंबर 2008 को मालेगांव में हुए धमाकों में 4 लोगों की मौत हुई थी और 79 लोग घायल हुए थे. इस मामले की जांच कर रही एटीएस ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और कर्नल पुरोहित की गिरफ्तारी भी की थी.

First published: 13 May 2016, 15:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी