Home » इंडिया » NIA detained woman handler Tania Parveen of Lashkar-E-Taiba from Pakistan
 

22 साल की पाकिस्तानी महिला जासूस को NIA ने धर दबोचा, हुस्न का जाल फेंक जुटाना चाहती थी खूफिया जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2020, 12:14 IST

NIA Detained Woman Spy: राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानि NIA ने तानिया परवीन नामक पाकिस्तान की एक महिला जासूस को धर दबोचा है. वह पाकिस्तान से संचालित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करती थी. तानिया परवीन भारत में एक बड़ी साजिश रच रही थी. इससे पहले ही एनआईए ने उसे धर दबोचा है.

22 साल की तानिया परवीन पश्चिम बंगाल में रहकर मौलाना आजाद कॉलेज में पढ़ाई करती थी. एनआईए सूत्राें के अनुसार, तानिया काे एसटीएफ ने पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना जिले में बांग्लादेश की सीमा से पकड़ा है. उसे बादुरिया से कुछ हफ्ते पहले एसटीएफ ने गिरफ्तार किया. एनआईए ने तानिया परवीन को 10 दिन के लिए हिरासत में लिया है. 

हाफिज सईद के संपर्क में थी तानिया परवीन

अब एनआईए की एक स्पेशल टीम उससे कोलकाता कार्यालय में पूछताछ करेगी. पिछले एक साल से एनआईए उस पर निगाह रख रही थी. बताया जा रहा है कि तानिया मुंबई हमले के सरगना तथा जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद के संपर्क में थी. इसके अलावा वह पाकिस्तान में कई हैंडलर्स के संपर्क में थी.

हुस्न का इस्तेमाल कर भारतीय अधिकारियों को फंसाना चाहती थी तानिया

रिपोर्ट के अनुसार, तानिया परवीन कई सिम कार्ड का उपयोग कर रही थी. इसके साथ ही वह वाॅट्सएप ग्रुप तथा फेसबुक के जरिए पाकिस्तान के हैंडलर्स से संपर्क में थी. बताया जा रहा है कि वह अपने हुस्न के जाल में भारतीय अधिकारियाें काे फंसाकर विभिन्न खुफिया सूचनाएं हासिल करने की कोशिश में लगी थी.

दावा है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई खूबसूरत तानिया परवीन का उपयोग कर भारत से संवेदनशील जानकारी चुराना चाहता था. बता दें कि पाकिस्‍तान लंबे समय से भारत में खुफिया जानकारियों हासिल करने के लिए हनी ट्रैप का सहारा लेता रहा है. खूबसूरत लड़कियों द्वारा हनीट्रैप का सहारा लेकर वह भारतीय अधिकारियों को पहले जाल में फंसाना चाहता है. इसके बाद उनसे जानकारियां निकलवाना चाहता है.

जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद, दो घायल

आज मिलेगी गर्मी से राहत, इन राज्यों में हो सकती है झमाझम बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट

First published: 14 June 2020, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी