Home » इंडिया » NIA officer Tanzil Ahmed murder case: Main accused Muneer arrested by UP STF, questioning underway
 

एनआईए अफसर तंजील मर्डर केस का मुख्य अभियुक्त मुनीर गिरफ्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 June 2016, 16:27 IST
(पीटीआई)

एनआईए अफसर तंजील अहमद मर्डर केस में यूपी एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) को बड़ी कामयाबी मिली है. एसटीएफ ने इस हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त मुनीर को गिरफ्तार कर लिया है.

मुनीर के साथ उसका साथी सैफ भी गिरफ्तार हुआ है. पुलिस ने मुनीर पर दो लाख रुपये का इनाम रखा है. दिल्ली के कमलानगर मार्केट में डेढ़ करोड़ की लूट के मामले में भी मुनीर आरोपी है. लूटपाट के दौरान कैश वैन के गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. 

नोएडा-गाजियाबाद बॉर्डर से गिरफ्तारी

इसके अलावा वैन के ड्राइवर को भी गोली मारी गई थी. मुनीर हत्या और लूटपाट के कई मामलों में वांटेड था. यूपी एसटीएफ ने नोएडा-गाजियाबाद सीमा से उसे दबोचा है.

यूपी एसटीफ मुनीर से पूछताछ कर रही है. एनआईए अफसर तंजील अहमद की यूपी के बिजनौर में बाइक सवार हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.  

पढ़ें: एनआईए अधिकारी तंजील अहमद की हत्या के पीछे निजी रंजिश

यूपी एसटीएफ के एसएसपी अमित पाठक का कहना है, "कार्रवाई के दौरान हमने मुनीर को आज जब रोकने की कोशिश की, तो उसने हमारी टीम पर फायरिंग कर दी. जवाबी कार्रवाई में उसे गिरफ्तार कर लिया गया. मुनीर के पास से तीन हथियार बरामद हुए हैं."

दिल्ली पुलिस भी करेगी पूछताछ

एसटीएफ के एसएसपी अमित पाठक का कहना है, "हमने दिल्ली पुलिस को इस बारे में जानकारी दे दी है. दिल्ली पुलिस की एक टीम आज मुनीर से पूछताछ करेगी."

एएसपी अमित पाठक के मुताबिक पूछताछ के दौरान मुनीर की तरफ से दिए गए तथ्यों और जानकारी की पुष्टि के लिए आशुतोष मिश्रा नाम के अपराधी से भी बात की जाएगी.

एसटीएफ का कहना है कि कमला नगर इलाके में डेढ़ करोड़ के लूट की वारदात को मुनीर ने अपने साथी और कुख्यात अपराधी आशुतोष मिश्रा की मदद से अंजाम दिया था. 

दो अप्रैल को तंजील अहमद की हत्या

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के डीएसपी तंजील अहमद की इसी साल दो अप्रैल को उत्तर प्रदेश के बिजनौर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हमले में उनकी पत्नी फरजाना गंभीर रूप से घायल हो गई थीं.

अस्पताल में इलाज के दौरान फरजाना की भी मौत हो गई थी. तंजील अहमद अपनी पत्नी और बच्चों समेत भांजी की शादी से लौट रहे थे. इसी दौरान दो बाइक सवारों ने स्वचालित पिस्टल से उन पर कई राउंड फायरिंग की थी. 

अतीउल्लाह की हुई थी गिरफ्तारी

यूपी पुलिस के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत सिंह चौधरी ने कहा था कि तंजील अहमद की हत्या के पीछे व्यक्तिगत दुश्मनी थी. 

दस दिन पहले ही यूपी एसटीएफ ने मुनीर गिरोह के सदस्य अतीउल्लाह को अलीगढ़ में मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया था. अतीउल्लाह के खिलाफ 11 आपराधिक केस दर्ज हैं. साथ ही उसके ऊपर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित था.

First published: 28 June 2016, 16:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी