Home » इंडिया » NIA says a real journalist is moral duty to cover govt development activity on his chargsheet
 

NIA: सरकार के विकास कार्यों को कवर करना पत्रकार का नैतिक कर्तव्य

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2018, 14:48 IST
(file )

देश की राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने पत्रकार को उसके नैतिक कर्तव्य बताए हैं. एनआईए का कहना कि एक पत्रकार को सरकार द्वारा किये जा रहे विकास कार्यों को कवर करना चाहिए. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस  में छपी खबर के मुताबिक कामरान यूसुफ नाम के फ्रीलांस करने वाले पत्रकार से एनआईए ने ये कहा.

एनआईए ने इस साल 18 जनवरी को कश्मीर में टेरर फंडिंग और पत्थरबाजी की घटनाओं के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी. इस चार्जशीट में साक्ष्यों के तौर पर इस बात का भी जिक्र किया है. एनआई द्रारा दाखिल की गई चार्जशीट में 12 लोगों के नाम हैं. इनमें कामरान यूसुफ भी एक है.

कामरान युसुफ को देश की जांच एजेंसी ने पिछले साल 5 सितंबर को गिरफ्तार किया था. युसुफ की जमानत के लिए गुरुवार को अदालत में चल रही सुनवाई के दौरान ये बातें कहीं गई. अब इस मामले की अगली सुनवाई 19 फरवरी को होगी.

एनआईए की तरफ से दाखिल चार्जशीट में पत्रकार के नैतिक कर्तव्य को शामिल करते हुए कहा गया है, ”क्या वह पेशे से पत्रकार या स्ट्रिंगर है. अगर ऐसा है तो वह उसने कम से कम एक नैतिक कर्तव्य निभाया है, जैसे कि अपने अधिकार क्षेत्र में होने वाली गतिविधियों और घटनाओं (अच्छी-बुरी) को कवर करता. इसने कभी सरकार या किसी सरकारी एजेंसी द्वारा किए जाने वाले विकास कर्यों, अस्पताल, स्कूल भवन, सड़क, पुल का उद्घाटन, किसी सत्तारूढ़ दल का बयान या भारत सरकार या राज्य सरकार द्वारा कोई अन्य सामाजिक या विकासशील गतिविधी को कवर नहीं किया.”

 

इस चार्जशीट में ये भी कहा गया है कि भारतीय सेना कई समाज सेवा के काम करते हैं. ये लोग घाटी में रक्तदान करने के लिए कैंप, मुफ्त में चिकित्सा सुविधाएं, कौशल विकास कार्यक्रम और इफ्तार पार्टी आयोजित करती हैं. कामरान के लैपटॉप में शायद ही कोई ऐसी तस्वीर या वीडियो मिलें. 

इसका मतलब साफ है कि कामरान युसुफ एंटी नेशनल एक्टविटी पैसा कमाने के लिए कवर करता है. एनआई के मुताबिक युसुफ प्रोफेनशल नहीं है क्योंकि उसने संस्थान से ट्रेनिंग नहीं ली है.युसुफ की वकील वारीशा फारासात ने कहा कि उसने कई काम जो एक पत्रकार को करने चाहिए वो अपनी तस्वीरों और वीडियो के जरिए किये हैं.

First published: 16 February 2018, 14:48 IST
 
अगली कहानी