Home » इंडिया » NIA sent kashmiri businessman on remand
 

टेरर फंडिंग: कश्मीरी कारोबारी NIA की रिमांड पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 August 2017, 16:11 IST

दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को आतंकवाद और पथराव जैसी गतिविधियों के वित्त पोषण के लिए पाकिस्तान से धन लेने के आरोप में गिरफ्तार किए गए कश्मीरी व्यवसायी जहूर अहमद शाह वटाली को दस दिनों के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की हिरासत में भेज दिया गया. बंद कमरे की कार्यवाही में जिला न्यायाधीश पूनम बंबा ने वटाली को 28 अगस्त तक के लिए एनआईए को हिरासत में रखने की इजाजत दे दी.

वटाली को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था. वटाली पर कश्मीर घाटी में अलगाववादी और आतंकवादी गतिविधियों के लिए रकम पहुंचाने का का आरोप है. वह कथित तौर पर पाकिस्तान व प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों से धन जुटाता था और उसे कई हुर्रियत नेताओं को भेजता था.

एजेंसी ने जुलाई में सात अलगाववादियों को पाकिस्तान के वित्त पोषण से घाटी में अशांति फैलाने के मामले में गिरफ्तार किया था. एनआईए ने कहा कि वटाली कश्मीर के राजनेताओं के अलावा पाकिस्तानी नेताओं और साथ ही अलगाववादियों से अपने संबंधों के लिए जाना जाता है.

सूत्रों ने कहा कि वटाली करीब दो महीने से एनआईए की जांच के घेरे में है और उसे गिरफ्तारी से पहले दिल्ली स्थित एजेंसी के मुख्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया था. 

एनआईए के सूत्रों ने कहा कि एनआईए ने अदालत से कहा कि उसने कुछ संदिग्ध दस्तावेज जब्त किए हैं जो संपत्ति, बैंक खातों, वित्तीय लेनदेन से जुड़े हुए हैं. इसमें कुछ ऐसे लोगों के नाम हैं जिन्हें बड़ी मात्रा में नकदी दी गई है.

विशेष लोक अभियोजक सिद्धार्थ लूथरा ने अदालत को बताया कि आरोपी से जब्त किए गए सामानों के बारे में पूछताछ की जानी है, जिसके विश्लेषण की भी जरूरत है.

उन्होंने यह भी कहा कि वटाली जांच में सहयोग नहीं कर रहा है और उसे हिरासत में लेकर और पूछताछ करने की जरूरत है. बचाव पक्ष ने इसका विरोध किया और कहा कि वटाली जांच में सहयोग कर रहा है. अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद वटाली को दस दिन की एनआईए हिरासत में भेज दिया.

First published: 19 August 2017, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी