Home » इंडिया » Nihalani is 'proud to be PM's chamcha'. But are BJP CMs far behind?
 

मोदी नाम की लूट है, लूट सके तो लूट

चारू कार्तिकेय | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
QUICK PILL
उड़ता पंजाब के निर्देशक के साथ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री केे कई अन्य निर्देशकों ने सेंसर बोर्ड के प्रमुख पहलाज निहलानी के साथ सीधे मोर्चा खोल दिया है. उनका आरोप है कि निहलानी का फैसला राजनीति से प्रेरित है. फिल्म इंडस्ट्री ने निहलानी को मोदी का चमचा तक बता डाला.प्रधानमंत्री इस बीच एक महादेश से दूसरे महादेश के भ्रमण पर है, उस वक्त निहलानी ने अपने आलोचकों को जवाब देते हुए यह स्वीकार करने में हिचक नहीं दिखाई कि वह मोदी के चमचे हैं.

इस हफ्ते दो घटनाक्रम के बीच एक तारतम्यता दिखी. पहला बॉलीवुड की फिल्म उड़ता पंजाब और सेंसर बोर्ड के बीच टकराव और दूसरा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पांच देशों का दौरा. उड़ता पंजाब पर चली सेंसर बोर्ड की कैंची के बाद जहां उड़ता पंजाब हैशटैैग के साथ ट्विटर पर ट्वीट की बाढ़ आ गई वहीं मोदी के विदेशी दौरे को लेकर उड़ता पीएम हैशटैग भी चल पड़ा.

उड़ता पंजाब के निर्देशक के साथ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के कई अन्य निर्देशकों ने सेंसर बोर्ड के प्रमुख पहलाज निहलानी के साथ सीधे मोर्चा खोल दिया. उनका आरोप था कि निहलानी का फैसला राजनीति से प्रेरित है. फिल्म इंडस्ट्री ने निहलानी को मोदी का चमचा तक बता डाला. प्रधानमंत्री इस बीच एक महादेश से दूसरे महादेश के भ्रमण पर थे, उस वक्त निहलानी ने अपने आलोचकों को जवाब देते हुए यह स्वीकार करने में हिचक नहीं दिखाई कि वह मोदी के चमचे हैं.

हालांकि निहलानी के जवाब को किसी ने चुनौती नहीं दी कि आखिरी उन्हें किसी का चमचा होने की क्या मजबूरी आन पड़ी. उन्हें इस बात की शाबाशी दी जानी चाहिए कि उन्होंने खुलकर इस बात को स्वीकार किया जबकि कई ऐसे हैं जो बिना इसे स्वीकार किए सरकार के लिए वही सब काम कर रहे हैं.

कल शाम टीवी पर मोदी का यूएस कांग्रेस को दिया गया भाषणा लाइव चला और इसके बाद बीजेपी के कई नेताओं ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री के भाषण की तारीफ की.

केवल मुख्यमंत्री

संयोगवश यह सभी ट्वीट बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के थे. बीजेपी के राष्ट्रीय नेता और केंद्रीय मंत्री अभी तक मोदी की तारीफ करते रहे हैं लेकिन इस बार उन्होंने किसी अज्ञात कारणों से दूरी बना ली.

रमन सिंह

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री इस मोर्चे पर सबसे आगे रहे. मोदी के भाषण की जबरदस्त तरीके से तारीफ करते हुए उन्होंने इसे शिकागो में 1893 में स्वामी विवेकानंद के भाषण के बराबर बता डाला. विवेकानंद ने 1893 में शिकागो में धर्म संसद सम्मेलन को संबोधित किया था.

उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा से भारत और अमेरिका के द्विपक्षीय संबंधों में तेजी आई है.'

सिंह ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी जी को अमेरिकी कांग्रेस को मंत्रमुग्ध कर देने वाला भाषण देने के लिए बधाई देता हूं.

उनके जोरदार भाषण ने मुझे स्वामी विवेकानंद के शिकागो सम्मेलन की याद दिला दी. 

देवेंद्र फडनवीस

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने मोदी के भाषण के बाद उन्हें दुनिया का नेता बता डाला. उन्होंने कहा कि लगातार बज रही ताली और लगातार मिल रहा स्टैंडिंग ओवेशन और ऑटोग्राफ के लिए लगी भीड़. यह विश्व नेता की पहचान है.

आदरणीय नरेंद्र मोदी जी ने भारत के 125 करोड़ लोगों को गर्व महसूस कराया है. वह दुनिया के 7 अरब लोगों का दिल जीतने में सफल रहे हैं.

शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने मोदी की तारीफ में चार ट्वीट किए. उन्होंने मोदी के भाषण को शानदार और जोरदार बताया.

चौहान ने कहा कि मोदी ने अपने शानदार भाषण से 125 करोड़ लोगों की भावनाओं को शानदार तरीके से आगे रखा है.

उन्होंने कहा कि एक अतिविशेष वैश्विक नेता नरेंद्र मोदी ने भारत और अमेरिका के संबंधों को बेहतर तरीके से पारिभाषित किया है.

चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में इतिहास से लेकर राजनीतिक तक के मुद्दों के साथ अन्य प्रासंगिक मुद्दे भी उठाए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण वास्तव में देश और उसके बदल रहे लोगों के बढ़ते आत्मविश्वास का संकेत है.

सर्बानंद सोनवाल

असम के नए मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि मोदी को मिला स्टैंडिंग ओवेशन और तालियां यह बताती हैं कि अमेरिकी कांग्रेस उनसे मंत्रमुगध था.

सोनवाल ने कहा, 'पीएम नरेंद्र मोदी मानवीयता पर दिए अपने भाषण से अमेरिकी कांग्रेस को मंत्रमुग्ध करने में सफल रहे. मोदी जी का भाषण भारत और अमेरिका के संबंधों को नया आयाम देगा.'

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी जी को मिला स्टैंडिंग ओवेशन हम सभी के लिए गर्व का क्षण है.

आनंदीबेन पटेल

गुजरात में अपनी कुर्सी बचाने की जद्दोजहद में लगी आनंदीबेन पटेल को  प्रधानमंत्री का भाषण ऐतिहासिक लगा.

पटेेल ने कहा, 'अमेरिकी कांग्रेस में दिया गया ऐतिहासिक भाषण महत्वाकांक्षी भारत के उभार को बताता है. इससे हर भारतीय को गर्व है. इसके लिए आपका शुक्रिया प्रधानमंत्री.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण भारत की ताकत, जवाबदेही और दुनिया के समक्ष मौजूद चुनौतियों के बारे में बताता है. इससे आने वाले दिनों में भारत और अमेरिका के संबंध मजबूत होंगे.

मनोहर लाल खट्टर

हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर ने इसे शानदार भाषण बताया. उन्होंने कहा, 'अमेरिकी कांग्रेस में प्रधानमंत्री का भाषण शानदार रहा. उन्होंने हमारे राष्ट्र के आदर्श, ताकत और भावनाओं को अच्छी तरह से सामने रखा.'

रघुवर दास

झारखंड के मुख्यमंत्री ने हिंदी में ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी को बधाई दी. उन्होंने कहा, 'अमेरिकी संसद में प्रधानमंत्री मोदी जी का शानदार अभिभाषण. यह हर भारतीय के लिए गौरवशाली क्षण है.'

जो नहीं दिखे

प्रधानमंत्री मोदी के कांग्रेस में दिए गए भाषण की तारीफ करने में बीजेपी राज्यों के मुख्यमंत्री आगे रहे.लेकिन कुछ ऐसे भी मुख्यमंत्री थेे जिन्होंने मोदी को बधाई नहीं दी. राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने मोदी को बधाई नहीं दी.

इसके अलावा गृह मंत्री, विदेश मंत्री, वित्त मंत्री, रक्षा मंत्री और शिक्षा मंत्री ने इस मामले में दूरी बनाए रखी.पार्टी प्रेसिडेंट अमित शाह ने भी मोदी को बधाई नहीं दी.

जो हर वक्त करते हैं तारीफ

शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू को मोदी का जबरदस्त समर्थक माना जाता है. उन्होंने मोदी को भारत के लिए वरदान और गरीबों का मसीहा बताया है. नायडू ने इस मौके पर करीब आधा दर्जन ट्वीट किए.

उन्होंने कहा कि अमेरिकी कांग्रेसम में पीएम मोदी का क्या शानदार भाषण रहा. उन्होंने 50 मिनट के भाषण में भारत और अमेरिका के बीच नया आयाम गढ़ दिया है.

उन्होंने कहा कि अमेरिकी कांग्रेस में भाषण के बाद मोदी विश्व के नेता बनकर उभरे हैं. उन्हें कांग्रेस में 61 बार तालियां मिलीं.

आपने ठीक कहा प्रधानमंत्री, 'भारत एक साथ रहता है और एक साथ आगे बढ़ता है.'

दुनिया के वरिष्ठ सांसदों ने मोदी की तारीफ की. भारत और अमेरिका के बीच के द्विपक्षी रिश्ते नए चरण में जा चुका है.

हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की पूर्व स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी का भाषण अब तक के शानदार भाषणों में से एक रहा.

कांग्रेस सीनेटर एलियट एंजेल ने कहा कि पीएम का मैडिसन स्क्वायर का भाषण ऐतिहासिक था. कई अन्य सीनेटर ने कहा कि प्रधानमंत्री की ऊर्जा और करिश्मा प्रेरित करने वाला था.

हालांकि इस सूची में एक नाम ऐसा है जिसने मोदी के भाषण की तारीफ नहीं की. मोदी के दोस्त और अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा.

First published: 9 June 2016, 6:59 IST
 
चारू कार्तिकेय @charukeya

असिस्टेंट एडिटर, कैच न्यूज़, राजनीतिक पत्रकारिता में एक दशक लंबा अनुभव. इस दौरान छह साल तक लोकसभा टीवी के लिए संसद और सांसदों को कवर किया. दूरदर्शन में तीन साल तक बतौर एंकर काम किया.

पिछली कहानी
अगली कहानी