Home » इंडिया » Nirav Modi's new excuse, said- if handed over to India, there will be fear of suicide and Covid-19 in jail
 

नीरव मोदी का नया बहाना, कहा- भारत को सौपा गया तो जेल में आत्महत्या और Covid-19 का डर रहेगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 July 2021, 12:57 IST

 

भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) ने बुधवार को लंदन की एक अदालत को बताया कि यदि उन्हें भारत को प्रत्यर्पित किया जाता है और मुंबई की आर्थर रोड जेल में स्थानांतरित किया जाता है तो उनकी मानसिक बीमारी के कारण आत्महत्या का जोखिम बढ़ जायेगा. उन्होंने जेल में कोविड -19 से संक्रमित होने के जोखिमों का भी हवाला दिया. नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक से 13,000 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी का आरोप है.

फरवरी में यूके में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने आदेश दिया था कि भगोड़े हीरा व्यापारी को मुकदमे का सामना करने के लिए भारत प्रत्यर्पित किया जा सकता है. 15 अप्रैल को ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने मोदी के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी दी थी.


उनके वकीलों ने अब प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ एक बार फिर अपील करने के लिए एक नई याचिका दायर की है. मोदी की ओर से पेश बैरिस्टर एडवर्ड फिट्जगेराल्ड ने फरवरी में प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ तर्क दिया था. उन्होंने कहा कि न्यायाधीश का यह निष्कर्ष गलत था कि मोदी की गंभीर अवसाद की स्थिति उनकी कैद को देखते हुए असामान्य नहीं थी. लेकिन उन्होंने खुद को मारने के लिए तत्काल आवेग प्रदर्शित नहीं किया.

ब्लूमबर्ग ने बताया कि वकीलों ने आर्थर रोड जेल में चिकित्सा सुविधाओं पर भी संदेह जताया और कहा कि मोदी के प्रत्यर्पण से जेल में covid मामलों का सामना का सामना करना पड़ सकता है. फिट्जगेराल्ड ने तर्क दिया "हम नहीं जानते कि भारतीय जेल में उन्हें किस तरह रखा जायेगा.'' पीटीआई ने बताया कि फैसला बाद की तारीख में दिए जाने की संभावना है कि क्या मामला लंदन में उच्च न्यायालय में पूर्ण अपील की सुनवाई के लिए आगे बढ़ सकता है.

मामले की कार्यवाही दो साल तक चली. मोदी ने आरोपों से इनकार किया है और उन्हें ब्रिटेन से भारत में प्रत्यर्पित करने के प्रयासों का विरोध किया है. लेकिन जमानत मांगने के उनके कई प्रयासों को बार-बार ठुकरा दिया गया.

NSO ग्रुप ने किया था स्वीकार- पेगासस का हो सकता है दुरूपयोग, बताया कौन हैं उसके कस्टमर

First published: 22 July 2021, 12:57 IST
 
अगली कहानी