Home » इंडिया » Nirbhaya Gangrape Case: Central government says from court culprit playing judicial machinery
 

निर्भया केस: कोर्ट से केंद्र सरकार की मांग- न्यायिक मशीनरी से खेल रहे दोषी, तुरंत हो फांसी

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 February 2020, 19:39 IST

Nirbhaya Gangrape Case: दिल्ली के बहुचर्चित निर्भया गैंगरेप केस मामले को लेकर केंद्र सरकार ने कोर्ट से दोषियों को तुरंत फांसी देने का आग्रह किया. केंद्र सरकार ने चारों दोषियों को फांसी की सजा में रोक को कानूनी प्रक्रिया में रोक लगाने वाला जानबूझकर, सुनियोजित और सोचा-समझा काम बताया. इसे लेकर कोर्ट से सरकार ने फांसी में बिल्कुल देरी न होने की मांग की.

केंद्र सरकार की तरफ से वरिष्ठ वकील तुषार मेहता ने सुनवाई के दौरान जस्टिस सुरेश कुमार कैत से कहा, "समाज और पीड़िता के हित में इस मामले में कोई देरी नहीं होनी चाहिए. सुप्रीम कोर्ट का भी कहना है कि इससे दोषी पर अमानवीय प्रभाव पड़ेगा इसलिए इसमें कोई देरी नहीं होनी चाहिए."

इसे लेकर तुषार मेहता ने कोर्ट में एक चार्ट पेश किया. इस चार्ज शीट में चारों दोषियों द्वारा अभी तक अपनाए गए कानूनी उपायों की विस्तृत जानकारी थी. बता दें कि कोर्ट निर्भया के दुष्कर्म और हत्या के चारों दोषियों विनय, अक्षय, मुकेश और पवन की फांसी पर रोक लगाने वाले सेशन कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली गृह मंत्रालय की याचिका पर सुनवाई कर रहा था.

 

 

दिल्ली विधानसभा चुनाव: कांग्रेस पार्टी का बड़ा ऐलान, केजरीवाल सरकार से ज्यादा देगी बिजली फ्री

शाहीन बाग में खुलेआम गोली चल रही, दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमित शाह की धुन पर नाच रहे हैं- CPI

First published: 2 February 2020, 19:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी