Home » इंडिया » nirbhaya rape case mother father reaction on delhi gangrape case
 

'बेटी के साथ-साथ सभी को इंसाफ मिला'

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2017, 15:44 IST

देश को हिला देने वाले दिल्ली के निर्भया गैंगरेप केस में सुप्रीम कोर्ट ने चार दोषियों की फांसी की सजा सुनाई है. सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बेंच ने इस मामले में चारों मुजरिमों विनय, अक्षय, पवन और मुकेश को हाईकोर्ट से मिली सजा-ए-मौत को बरक़रार रखा है.

सभी दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने का पीड़िता के परिजनों ने स्वागत किया है. एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान पीड़िता की मां आशा देवी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से उनकी बेटी को इंसाफ मिला है. हम सबको इंसाफ मिला है, लेकिन बेटी को खोने का मलाल सब दिन रहेगा. उन्होंने कहा, 'हमारी कानून व्यवस्था थोड़ी लचर जरूर है, लेकिन आज मैं मानती हूं कि कानून में देर, लेकिन अंधेर नहीं.'

वहीं, निर्भया के पिता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला उनके परिवार के लिए जीत है. उन्होंने कहा, 'मैं शीर्ष अदालत के इस फैसले से बेहद खुश हूं.' शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले निर्भया की मां आशा देवी ने 'आज तक' से बात करते हुए कहा था कि पिछले 5 साल में कई बार खुद को टूटा हुआ महसूस किया, कई बार लगा की न्याय नहीं मिलेगा. लेकिन जिस दिन का हमें इंतजार था, इस दिन के लिए मैं सभी देशवासियों का धन्यवाद करती हूं.

First published: 5 May 2017, 15:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी