Home » इंडिया » NITI Aayog VC Rajiv Kumar says economy in worst phase of 70 years by Demonetisation and GST
 

नोटबंदी-GST के कारण 70 साल के सबसे बुरे दौर में अर्थव्यवस्था- नीति आयोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2019, 10:07 IST

देश की बिगड़ती अर्थव्यवस्था को लेकर नीति आयोग के वीसी राजीव कुमार ने बड़ा बयान दिया है. राजीव कुमार ने कहा है कि नोटबंदी और जीएसटी ने इस पर बड़ा प्रभाव डाला है. नीति आयोग के वाइस चेयरमैन ने सरकार से निजी कंपनियों को भरोसे में लेने की सलाह दी.

उन्होंने कहा कि पिछले 70 साल में देश में ऐसी स्थिति का सामना नहीं किया गया जब पूरी वित्तीय प्रणाली जोखिम में है. नोटबंदी और जीएसटी के बाद कैश संकट बढ़ा है. राजीव कुमार ने कहा कि आज कोई भी किसी पर भरोसा नहीं कर रहा है. प्राइवेट सेक्टर के भीतर कोई कर्ज देने को तैयार नहीं और हर कोई नगदी दबाकर बैठा है.

राजीव कुमार ने केंद्र सरकार को कुछ हटकर कदम उठाने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि नोटबंदी, जीएसटी और दीवालिया कानून के लागू होने के बाद देश के हालात बदल गए हैं. जहां पहले करीब 35 प्रतिशत कैश उपलब्ध होता था, वह अब काफी कम हो गया है. इससे स्थिति काफी जटिल हो गई है.

राजीव कुमार ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती का कारण साल 2009 से 2014 के दौरान बिना सोचे-समझे दिये गया कर्ज है. इस कारण साल 2014 के बाद नॉन परफॉर्मिंग एसेट यानि एनपीए बढ़ा है. जिससे बैंकों की नया कर्ज देने की क्षमता कमजोर हुई है.

गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों ने इस कमी की भरपाई की. इस कारण इनके कर्ज में भी 25 फीसदी की वृद्धि हुई. राजीव कुमार ने यह भी बताया कि वित्तीय क्षेत्र में दबाव से निपटने और आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए केंद्रीय बजट में कुछ कदम उठाए गए हैं.

मदरसा के छात्रों को योगी सरकार का तोहफा, टॉपर्स को देगें 5-5 हजार रुपये

Video: पूर्व मुख्यमंत्री के अंतिम संस्कार में दी जानी थी 21 बंदूकों की सलामी, फुस्स हो गईं सारी

First published: 23 August 2019, 9:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी