Home » इंडिया » Nitin Gadkari said that he has plans to ask the Finance Ministry to bring down the tax of Bio-diesel to 5%. Currently charged at 18% GST.
 

बायोडीजल पर घट सकता है GST, जेटली से अनुरोध करेगा ये मंंत्रालय

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 August 2017, 10:48 IST

केंद्रीय पेट्रोलियम और सड़क परिवहन मंत्रालय ने जैव ईंधन पर जीएसटी की मौजूदा 18 प्रतिशत दर को घटाकर 5 प्रतिशत करने की मांग की है और कहा है कि जैव ईंधन पर नई पॉलिसी को जल्द ही कैबिनेट की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा, जिसकी गुरुवार को घोषणा की गई.

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने विश्व जैव ईंधन दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, "पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ, हम जैव-डीजल पर जीएसटी (माल और सेवा कर) की वर्तमान दर 18 फीसदी को कम कर 5 फीसदी तक लाने के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली से अनुरोध करेंगे."

उच्च-प्रदूषणकारी डीजल के बदले बायोडीजल को लागत प्रभावी, प्रदूषण मुक्त और आयात के विकल्प के रूप में बताते हुए प्रधान ने कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय, सड़क परिवहन मंत्रालय के समन्वय में एक नई जैव ईंधन नीति पर एक कैबिनेट नोट तैयार कर रहा है.

उन्होंने कहा, "एक नया जैव ईंधन जल्द ही आने वाला है जो निवेश, प्रोत्साहन, क्षेत्र के लिए अधिकतम आश्वासन मूल्य आदि जैसी चीजों को बढ़ावा देगा."

प्रधान ने कहा, "एक या दो साल में, भारत की जैव ईंधन अर्थव्यवस्था एक लाख करोड़ रुपये की होगी, जो कि बहुत से बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार पैदा करेगी और हमारे संकटग्रस्त किसानों की आय बढ़ाएगी."

उन्होंने कहा कि सरकारी तेल विपणन कंपनियां (ओएमसी) जैव ईंधन अनुसंधान और विकास में 20 लाख डॉलर तक का निवेश करने के लिए तैयार हैं. ओएमसी पहले से ही इथेनॉल मिश्रित पेट्रोल (ईबीपी) कार्यक्रम लागू कर चुके हैं, जिसके तहत वे पेट्रोल को 10 प्रतिशत तक इथेनॉल के साथ मिलाकर बेचते हैं.

First published: 11 August 2017, 10:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी