Home » इंडिया » Nitish Kumar: Dont make fight against terror a political fight
 

नीतीश कुमार: चुनाव से पहले ही मोदी और भाजपा को भगवान राम याद आते हैं

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(फाइल फोटो)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को सियासी मुद्दा न बनाने की अपील की है. नालंदा के राजगीर में नीतीश ने कहा कि आतंकवाद एक राष्ट्रीय मुद्दा है, लिहाजा इसे राजनीतिक लड़ाई में नहीं घसीटना चाहिए. इस दौरान नीतीश ने पीएम मोदी के जय श्रीराम के संबोधन पर भी हमला बोला.

जनता दल यूनाइटेड की दो दिवसीय राष्ट्रीय परिषद की बैठक में दूसरे दिन खुले अधिवेशन को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा, "पूरा देश आतंकवाद के मुद्दे पर एक है. जेडीयू आतंकवाद के मुद्दे पर किसी भी निर्णय में केन्द्र सरकार और सेना के साथ है, लेकिन इसे राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल करने का पार्टी विरोध करेगी."

नीतीश ने जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान भी संभाल ली है. पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी मिलने पर नीतीश ने कहा, "मझे अब काम करने की आदत हो गई है. मैं जिम्मेदारियों से कभी भागूंगा भी नहीं. पार्टी के लोग जिस राज्य में भी बुलाएंगे, मैं वहां जाऊंगा, लेकिन बिहार के लिए काम करता रहूंगा.

इस दौरान नीतीश ने बीजेपी और पीएम मोदी को निशाने पर लिया. नीतीश ने कहा, "भारतीय जनता पार्टी में अब कोई दम नहीं है. यह केवल प्रचार के बल पर जीवित है."

वहीं दशहरे पर लखनऊ के ऐशबाग की रामलीला में पीएम मोदी के 'जय श्रीराम' का नारा लगाने पर नीतीश ने तंज कसते हुए कहा, "किसी चुनाव के पहले ही भाजपा को क्यों भगवान राम याद आते हैं." 

नीतीश ने साथ ही कहा, "इस मुद्दे से किसी पार्टी को किसी राज्य में तात्कालिक फायदा जरूर मिल सकता है, लेकिन राष्ट्र के लिए यह घातक है." साथ ही नीतीश ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष का पद उन्होंने शरद यादव के कहने पर संभाला है.

बिहार में शराबबंदी कानून पर नीतीश ने कहा, "शराबबंदी कानून के लागू होने के बाद आम लोगों की ओर से विरोध हुआ, लेकिन अब सराहना मिल रही है. शराबबंदी कानून में संशोधन पर चर्चा हो सकती है, लेकिन शराबबंदी कानून लागू है और लागू रहेगा. इसे लेकर किसी को भ्रम नहीं होना चाहिए."

First published: 18 October 2016, 10:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी