Home » इंडिया » No Confidence motion: Kharge says 38 minutes allotted to Congress is faults of government
 

अविश्वास प्रस्ताव पर कम समय देने पर मोदी सरकार पर भड़की कांग्रेस

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2018, 11:55 IST

लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने अविश्वास प्रस्ताव पर बोलने के लिए मोदी सरकार को 3.30 घंटे का समय दिया गया है तो मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को सिर्फ 38 मिनट का समय दिया गया है. जिसके बाद कांग्रेस ने सरकार पर हमला बोला है. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इतना कम समय अपर्याप्त है. यह सरकार की गलती है जो हमें कम समय दिया गया है. खड़गे ने कहा कि देश की 130 करोड़ की जनता की आवाज उठाने के लिए हमें सिर्फ 38 मिनट का समय दिया गया है.

बता दें कि लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने 18 जुलाई को तेलुगू देशम पार्टी के अविश्वास प्रस्ताव को मंजूर कर लिया था. इस पर आज 20 जुलाई को शक्ति परीक्षण हो रहा है. आज सुबह 11 बजे जैसे ही लोकसभा की कार्यवाही शुरू हुई वैसे ही इस पर बहस हो रही है. टीडीपी इस पर अपनी बात रख रही है. 

सदन में अविश्वास प्रस्ताव पर अपने विचार रखने के लिए मोदी सरकार यानि भाजपा को 3.30 घंटे का समय दिया गया है तो मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को सिर्फ 38 मिनट का समय दिया गया है. वहीं सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले मुख्य दल तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) को इस पर चर्चा करने और बोलने के लिए अध्यक्ष ने सिर्फ 13 मिनट का समय दिया है.

इसके अलावा अन्य विपक्षी दल अन्नाद्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, बीजू जनता दल (बीजद), तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को क्रमश: 29 मिनट , 27 मिनट , 15 मिनट और नौ मिनट का समय दिया गया है. 

पढ़ें- शिवसेना ने सामना में दिए यू टर्न के संकेत, उद्धव ठाकरे ने शाह को दिया था सपोर्ट का भरोसा

बता दें कि अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के दौरान ना तो प्रश्नकाल होगा, ना ही लंच ब्रेक होगा. यहां तक कि शुक्रवार को होने वाला निजी विधेयक का समय भी अगले सप्ताह तक के लिए टाल दिया गया है. 11 बजे से लगातार 6 बजे तक सिर्फ भाषणों का दौर चलेगा. 

First published: 20 July 2018, 11:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी