Home » इंडिया » no question mark on freedom of expression in country : Advani
 

अभिव्यक्ति की आजादी पर देश में कोई रोक नहीं: आडवाणी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2016, 13:50 IST

असहिष्णुता पर चल रहे देशव्यापी बहस में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने मंगलवार को अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि देश में अभिव्यक्ति की आजादी पर किसी तरह का कोई सवालिया निशान नहीं है.

उन्होंने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि आखिर कौन लोग ऐसा कह रहे हैं ? इस मामले पर मोदी सरकार का बचाव कर रहे भाजपा मार्गदर्शक मंडल के वरिष्ठ नेता आडवानी इससे पहले पार्टी नेतृत्व से नाराज बताए जा रहे थे.

इससे पहले मुंबई में हुए सुधीन्द्र कुलकर्णी पर हुए हमले पर आडवानी ने अपने बयान में कहा था कि देश में असहिष्णु ताकतें बढ़ रही हैं. मोदी सरकार की कार्यशैली से नाराज आडवानी ने तो एक बार यहां तक कह दिया था कि देश में इमंरजेंसी के हालात पैदा हो गये हैं.

परोक्ष तौर पर उपेक्षा झेल रहे पार्टी के इस वरिष्ठ नेता ने कई बार मोदी सरकार की खुली आलोचना की है और अब ऐसे में उनका यह बयान उनके पूर्व में दिये गये बयानों के बीच द्वंद की स्थिति को दर्शाता है. 

गणतंत्र दिवस के मौके पर अपने आवास पर झंडा फहराने के बाद आडवाणी ने कहा कि 'मैं नहीं जानता कि कौन लोग हैं, जो ऐसा कह रहे हैं कि भारत में अभिव्यक्ति की आजादी नहीं है.'

लाल कृष्ण आडवानी ने कहा कि 'ब्रिटिश राज में अभिव्यक्ति की आजादी कुचलने के प्रयास के खिलाफ लोगों ने कड़ा संघर्ष किया. गणतंत्र दिवस पर लोगों में देशभक्ति की भावना स्वाभाविक है, लेकिन शिक्षा और खेल तथा अन्य तरीकों से इसे हमेशा जगाए रखने का प्रयास किया जाना चाहिए.'

First published: 27 January 2016, 13:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी