Home » इंडिया » No sale of books and dress inside CBSE School campuses new circular issued
 

CBSE के स्कूलों में किताब-ड्रेस की बिक्री पर बैन, सर्कुलर जारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2017, 16:28 IST

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने अपने स्कूल कैंपसों में ड्रेस और किताबों की बिक्री पर बैन लगा दिया है. CBSE से संबद्ध स्कूल अब अपने कैंपस में किताबें, स्टेशनरी और ड्रेस की बिक्री नहीं कर सकेंगे. इन स्कूलों को अपने यहां एनसीईआरटी की पुस्तकें ही लागू करनी होंगी.

CBSE ने मान्यता प्राप्त स्कूलों को एक सर्कुलर जारी किया है, जिसमें ऐसे कामों को गंभीरता से लेते हुए स्कूलों को निर्देश दिए गये हैं कि ड्रेस और किताबों की ब्रिकी व्यावसायिक तरीके से नहीं करें और इस बारे में बोर्ड की संबद्धता के नियमों एवं प्रावधानों का पालन करें.

साथ ही सीबीएसई ने स्कूलों से एनसीईआरटी की पुस्तकें लागू करवाने वाले 12 अप्रैल 2016 को जारी उस सर्कुलर का पालन करवाने को कहा है, जिसमें बोर्ड ने NCERT-CBSE की पाठ्य पुस्तकों का इस्तेमाल करने को कहा है. सीबीएसई ने स्कूल प्रबंधन से इन निर्देशों को कड़ाई से लागू करने को कहा है.

सीबीएसई के उप सचिव (संबद्धता) के श्रीनिवास की ओर से जारी इस सर्कुलर में कहा गया है कि सीबीएसई की संबद्धता के नियम 19.1 में कहा गया है कि कंपनी अधिनियम 1956 की धारा 25 के तहत पंजीकृत सोसाइटी, ट्रस्ट या कंपनी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि स्कूल का संचालन सामुदायिक सेवा के रूप में हो, कारोबार की तरह नहीं.

स्कूलों में किसी भी रूप में व्यावसायिकता न पनपे. बोर्ड ने साफ किया है कि इस बात पर फिर से ध्यान दिया जाना चाहिए कि शैक्षणिक संस्थान, व्यावसायिक प्रतिष्ठान नहीं है और इनका इकलौता उद्देश्य गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना है.

दरअसल कई अभिभावकों की शिकायत के बाद ये फैसला लिया गया है. अभिभावकों ने स्कूलों द्वारा अपने परिसर में व्यावसायिक तरीके से पाठ्य सामग्री और ड्रेस बेचने के साथ ही कुछ चुनिंदा दुकानदारों के जरिये बिक्री की शिकायत बोर्ड से की थी. बोर्ड को यह भी शिकायतें मिली हैं कि स्कूल अभिभावकों पर निजी प्रकाशकों की पुस्तकें खरीदने का दबाव बनाते हैं.

First published: 21 April 2017, 16:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी