Home » इंडिया » Nobel Prize stolen from Kailash Satyarthi residence in Delhi, Police started investigation
 

कैलाश सत्यार्थी के घर से चोरों ने साफ किया 'नोबल पुरस्कार'

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 11:58 IST
(फाइल फोटो. (साभारः गेट्टी इमेजेज))

नोबल पुरस्कार विजेता और बच्चों-युवाओं के हित में काम करने वाले कैलाश सत्यार्थी के घर चोरी हो गई. चोरों ने घर में रखे कीमती सामान के साथ ही नोबल पुरस्कार का रेप्लिका (हूबहू) भी साफ कर दिया.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली के पॉश इलाके ग्रेटर कैलाश पार्ट 2 में अलकनंदा अपार्टमेंट स्थित कैलाश सत्यार्थी के घर सोमवार रात को चोरी हो गई. चोरों ने घर का ताला तोड़कर सोने-चांदी के आभूषण और दूसरा महंगा सामान भी चोरी कर लिया. 

बताया जा रहा है कि कैलाश सत्यार्थी एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए लैटिन अमेरिका के बोगोटा गए हुए हैं. मंगलवार सुबह जब उनके गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) के कर्मचारी घर पहुंचे तो उन्होंने टूटा हुआ ताला देखा.

कर्मचारी जब अंदर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि घर का सामान बिखरा पड़ा हुआ था और काफी सामान गायब था.

आनन-फानन में कर्मचारियों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी. स्थानीय पुलिस और फोरेंसिक विशेषज्ञ मौके पर पहुंचे और जरूरी सबूत जुटाए. पुलिस घर के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगालने में जुटी हुई है.

बता दें कि देश में बाल अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाले कैलाश सत्यार्थी को 2014 में पाकिस्तान की मलाला युसुफजई के साथ संयुक्त रूप से शांति का नोबल पुरस्कार दिया गया था. 2979 में मदर टेरेसा के बाद नोबल शांति पुरस्कार पाने वाले कैलाश दूसरे भारतीय हैं.

कैलाश सत्यार्थी के घर से नोबल पुरस्कार की रेप्लिका और प्रमाण-पत्र चोरी हुआ है. जबकि सत्यार्थी ने अपना नोबल पुरस्कार राष्ट्र के नाम समर्पित करते हुए इस मेडल को राष्ट्रपति भवन को दे दिया था.

First published: 7 February 2017, 11:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी