Home » इंडिया » Whoever has old currency must go and deposit it in one go, if somebody goes everyday it raises suspicion:Jaitley
 

छोटे कारोबारियों को डिजिटल लेन-देन पर 2 फीसदी टैक्स छूट, जानिए 6 बड़ी बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 December 2016, 16:18 IST
(एएनआई)

नोटबंदी के बाद कैशलेस व्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने अहम एलान किया है. इसके तहत छोटे कारोबारियों को राहत मिली है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डिजिटल पेमेंट करने वाले छोटे कारोबारियों को दो फीसदी टैक्स छूट की घोषणा की है.

इस एलान के बाद दो करोड़ के सालाना टर्नओवर वाले कारोबारियों को कम टैक्स भरना पड़ेगा. इस दायरे में आने वाले कारोबारियों को अब 8 की बजाय 6 फीसदी टैक्स ही देना होगा.

वित्त मंत्री ने कहा, "2016-17 के बजट में दो करोड़ रुपये तक के कारोबार वाले ऐसे छोटे व्यापारियों और कारोबारियों जिनके समुचित खाते नहीं हैं, उनके बारे में माना गया था कि उन्होंने टैक्स के लिहाज से आठ प्रतिशत आय या लाभ कमाया. अगर वह भुगतान में डिजिटल माध्यम अपनाएंगे तो उनकी आय कारोबार का आठ फीसदी के बजाए छह फीसदी मानी जाएगी."

इसके साथ ही वित्त मंत्री ने कहा, "एक अहम बदलाव किया गया है और एक नई अधिसूचना में पुराने आदेश को संशोधित किया गया है जिसे बजट 2016-17 के लिए घोषित किया गया था. आयकर कानून, 1961 की धारा 44 एडी के तहत जिन करदाताओं का कारोबार दो करोड़ या उससे कम है, कर वसूलने के लिए लाभ को कुल कारोबार का आठ फीसदी माना गया है."

6 बड़ी बातें

1. अब कैशलेस कारोबार (डिजिटल लेन-देन) पर दो फीसगी कम टैक्स देना होगा. पहले यह सीमा 8 फीसदी थी.

2. इस छूट के तहत सालाना दो करोड़ रुपये या उससे कम के टर्नओवर वाले छोटे कारोबारियों को राहत मिलेगी.

3. अगर आपके पास पांच सौ या एक हजार रुपये के पुराने नोट हैं, तो एक बार में ही जाकर पैसे बैंक खाते में जमा करा दें. बार-बार बैंक जाकर पैसे जमा कराने से संदेह उत्पन्न होता है.

4. एक्सिस बैंक ने सरकार को भरोसा दिया है कि नकदी अनियमितता के मामले में दोषी अफसरों और कर्मचारियों पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी. दिल्ली और नोएडा में एक्सिस बैंक की चांदनी चौक, कश्मीरी गेट और सेक्टर 51 ब्रांच में गड़बड़ी का खुलासा हुआ था.

5. इनकम टैक्स स्लैब पर अभी कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है. इस बारे में सही समय पर फ़ैसला लिया जाएगा.

6. हम तैयार थे. एक भी दिन ऐसा नहीं रहा जब आरबीआई ने बैंकों को पर्याप्त पैसा नहीं भेजा हो. यहां तक कि आज भी आरबीआई के पास जरूरत से ज्यादा पैसा है, जो 30 दिसंबर ही नहीं उसके बाद भी चलेगा.

First published: 20 December 2016, 16:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी