Home » इंडिया » Now railway's waiting ticket passenger can book Air India tickets
 

अब उठाएं फर्स्ट एसी राजधानी ट्रेन के किराये में हवाई यात्रा का मजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2016, 16:28 IST

एयर इंडिया ने भारतीय रेलवे की राजधानी एक्सप्रेस के रूट पर एक नया स्पॉट फेयर सिस्टम शुरू कर दिया है. इसके तहत अब आखिरी वक्त में विमान यात्रा की टिकट लेने के लिए कई गुना किराया नहीं चुकाना पड़ेगा.

इस सिस्टम के तहत राजधानी एक्सप्रेस के फर्स्ट एसी किराये की कीमत के बराबर ही एयर इंडिया से विमान यात्रा का टिकट खरीदा जा सकेगा. यह विमान उड़ने के निर्धारित वक्त के एक से चार घंटे पहले तक खरीदा जा सकता है. इस विमान यात्रा में देश के 40 शहरों को जोड़ा गया है.

क्या होगा अगर विमान में मोबाइल को फ्लाइट मोड पर नहीं रखा?

बता दें कि एयर इंडिया और आईआरसीटीसी के संयुक्त प्रयास से यह पहल की गई है. इसके अंतर्गत टिकट कंफर्म न होने पर यात्रियों को अगले 24 घंटों के लिए एयर इंडिया के टिकट का विकल्प दिया जाएगा. राजधानी एसी फर्स्ट क्लास यात्रियों को इतना ही किराया जबकि एसी सेकेंड क्लास यात्रियों को इतने किराये के साथ ही 1,500 रुपये और देने होंगे.

आगामी 30 सितंबर तक लागू इस योजना के अंतर्गत अगर कोई यात्री अंतिम वक्त में कहीं जाना चाहते हैं तो यह विकल्प चुन सकते हैं. इसके लिए आईआरसीटीसी के जरिये ही टिकट बुक किए जाने की सुविधा है. 

पढ़ेंः टेक ऑफ और लैंडिंग के दौरान क्यों खुली रखनी पड़ती है विमान की खिड़की?

इतना ही नहीं रेलवे द्वारा बीमार यात्रियों के लिए एक सहूलियत दी गई है. इसके तहत अब बीमार यात्रियों को वापसी की रियायती टिकट के लिए परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी. रेलवे द्वारा अब ऐसे यात्रियों के लिए एक साथ दोनों रियायती टिकट जारी करने का आदेश दिया गया है.

गौरतलब है कि पहले ट्रेन से यात्रा करने वाली बीमार यात्रियों को एक ही तरफ की रियायती टिकट जारी की जाती थी. इससे यात्रियों का काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था. अचानक टिकट बुक कराने के चलते कंफर्म बर्थ नहीं मिल पाती थी.

10 बातें जो विमान केेबिन क्रू नहीं बताते आपको

वहीं, बुजुर्ग, बीमार और महिला यात्रियों के लिए रेलवे स्टेशनों के हर प्लेटफॉर्म पर एक व्हीलचेयर रखी जाएगी. इस बाबत सभी जोन के महाप्रबंधकों को आदेश जारी कर दिए गए हैं. 

First published: 29 June 2016, 16:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी