Home » इंडिया » NRC official website data missing, government says people's information is safe
 

NRC की आधिकारिक वेबसाइट का डेटा हुआ गायब, सरकार ने कहा लोगों की जानकारी सुरक्षित है

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 February 2020, 16:08 IST

असम में लागू किये गए एनआरसी (NRC) से संबंधित डेटा आधिकारिक वेबसाइट से गायब हो गया है. सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि अक्तूबर में NRC में शामिल और बाहर सभी नागरिकों की पूरी जानकारी nrcassam.nic.in पर अपलोड जानी चाहिए. टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार यह डेटा वेबसाइट पर मौजूद नहीं है. इस पूरी लिस्ट 3.11 करोड़ लोगों की जानकारी थी.

वेबसाइट पर NRC से बाहर 19.06 लाख लोगों की जानकारी भी मौजूद थी. टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार एक एनआरसी अधिकारी ने कहा कि ये डेटा अब लोगों को दिख नहीं रहा है क्योंकि क्लाउड स्पेस के लिए किया गया सरकार का क़रार ख़त्म हो गया है. एनआरसी कोर्डिनेटर प्रतीक हजेला के ट्रांसफ़र के बाद उनकी जगह समय से किसी नए अधिकारी को नियुक्त नहीं किया गया था, इसकी वजह से क़रार नहीं किया जा सका.

असम सरकार ने एनआरसी डेटा क्लाउड स्पेस के लिए विप्रो से करार किया था, जो अब ख़त्म हो गया है. 31 अगस्त 2019 को प्रकाशित अंतिम एनआरसी लिस्ट में 19 लाख से अधिक लोगों या लगभग 6% लोगों को शामिल नहीं किया गया था. हजेला को स्थानांतरित करने के बाद हितेश देव सरमा को असम सरकार ने NRC राज्य समन्वयक के रूप में नियुक्त किया था.

अधिकारी ने कहा "नए समन्वयक के कार्यभार संभालने के बाद नवीनीकरण की प्रक्रिया चल रही है और कुछ ही दिनों में डेटा ऑनलाइन होना चाहिए." सरमा ने कहा कि विप्रो के साथ उनका अनुबंध 19 अक्टूबर, 2019 तक था. जिसका नवीनीकृत नहीं किया गया है.

सरमा ने कहा ''विप्रो द्वारा निलंबित किए जाने के बाद डेटा 15 दिसंबर से ऑफलाइन हो गया था. मैंने 24 दिसंबर को पदभार ग्रहण किया." उन्होंने कहा कि राज्य समन्वय समिति ने इस महीने की शुरुआत में विप्रो को पत्र लिखा था. उम्मीद है कि अगले 2-3 दिनों में लोग इसे एक्सेस कर पाएंगे." गृह मंत्रालय ने यह भी दावा किया है कि डेटा सुरक्षित है. विपक्षी दलों ने इसकी आलोचना की है.

पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे का फ्लेट में मिला शव, पिता ने भी की थी आत्महत्या

First published: 12 February 2020, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी