Home » इंडिया » NRC: paresh rawal tweet on NRC says opposition lost 40 lakh votes
 

असम NRC पर परेश रावल का तंज- 2019 का पहला रुझान आया, विपक्ष '40 लाख' वोटों से पीछे

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 August 2018, 11:42 IST

असम में जारी हुए नेशनल रजिस्टर फॉर सिटीजन्स (एनआरसी) को लेकर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है. एक ओर जहां सरकार एनआरसी मुद्दे पर सख्ती से अड़ी हुई है वहीं दूसरी तरफ विपक्ष सड़क से लेकर संसद तक हंगामा मचाए है. इस मामले में पिछले तीन दिनों से राजयसभा में हंगामा चल रहा है.

वहीं सरकार का कहना है कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है क्योंकि सब कुछ सुप्रीम कोर्ट की जानकारी में हुआ है. कोर्ट के इस मामले में हस्तक्षेप होने के कारण सरकार एनआरसी को सही बता रही है. इस मामले में बीजेपी सांसद परेश रावल ने विपक्ष पर निशाना साधा है.

ये भी पढ़ें-असम: NRC ड्राफ्ट में पूर्व राष्ट्रपति के परिवार का नाम नदारद

परेश रावल ने ट्वीट करते हुए तंज किया है. परेश रावल ने तंज किया है, 'विपक्ष ''40 लाख'' वोटों से पीछे चल रहा है.'

गौरतलब है कि एनआरसी मामले में ममता बनर्जी मुखर होकर विरोध कर रही हैं. ममता ने विरोध में कहा था कि अगर बंगाल में एनआरसी लागू हुआ तो गृहयुद्ध का माहौल बन सकता है. उनके इस बयान की काफी आलोचना हुई थी. सुब्रमण्यम स्वामी ने भी ममता के इस बयान का विरोध करते हुए बंगाल में राष्ट्रपति शासन की मांग की थी.

एनआरसी का विरोध करने वालों के खिलाफ कल सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा था, ‘’अगर कोई चटाई लेकर भारत के अंदर आ जाए तो क्या वह भारत का नागरिक हो जाएगा? भारत कोई धर्मशाला नहीं है जहां पर कोई भी किसी भी देश से आकर बस जाए. अभी तो असम में एनआरसी लागू हुआ है. अगर हमारी सरकार पश्चिम बंगाल में आएगी तो हम वहां पर भी एनआरसी लागू करेंगे.’’

ये भी पढ़ें- Assam NRC: मटुआ महासंघ के लोगों ने शुरू किया 'रेल रोको आंदोलन', देखें वीडियो

क्या है एनआरसी का फाइनल ड्राफ्ट?
असम में आज नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स का अंतिम ड्राफ्ट जारी किया गया है. इसके अनुसार 2 करोड़ 89 लाख 83 हजार 677 लोगों को वैध नागरिक माना गया है. लेकिन चौंकाने वाली बात है कि लगभग 40 लाख लोगों को अवैध नागरिक माना गया है.

ये भी पढ़ें- NRC: अन्य राज्यों में न कर सकें प्रवेश इसलिए लिया जाएगा 40 लाख लोगों का बायोमेट्रिक रिकॉर्ड

 

First published: 2 August 2018, 11:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी