Home » इंडिया » nvestigators found photos of two suspects in the murder of tanzil ahmed
 

एनआईए अधिकारी तंजील अहमद की हत्या के पीछे निजी रंजिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 April 2016, 15:02 IST

एनआइए के डीएसपी तंजील अहमद की हत्या के मामले में यूपी पुलिस के डीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत सिंह चौधरी ने बयान दिया है कि तंजील अहमद की हत्या के पीछे व्यक्तिगत दुश्मनी थी.

डीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा कि हत्या के तरीके और जांच के विभिन्न पहलुओं को देखते हुए हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि यह निजी रंजिश का मामला है.

इस संबंध में यूपी पुलिस ने दो आरोपियों की पहचान भी कर ली है और उनकी गिरफ्तारी के लिए विभिन्न जगहों पर सघन छापेमारी भी चल रही है.

पढ़ें: पठानकोट हमले की जांच में शामिल एनआईए अफसर की हत्या

इससे पहले यूपी पुलिस ने तंजील अहमद की भांजी की शादी में हुए वीडियो रिकॉर्डिंग के जरिए दो संदिग्धों की पहचान की थी. यूपी पुलिस को इस वीडियो रिकॉर्डिंग में दो ऐसे लोग दिखे थे, जिन्हें बिजनौर में कोई नहीं जानता था.

यही कारण है कि जांच एजेंसियां तंजील अहमद की हत्या में दोनों को संदिग्ध मान रही हैं.गौरतलब है कि तंजील अहमद पर हमला शनिवार की रात उस समय हुआ, जब वो अपनी पत्नी और बच्चों समेत भांजी की शादी से लौट रहे थे.

उसी दौरान रास्ते में अहमद पर दो बाइक सवारों ने स्वचालित पिस्टल से कई राउंड फायरिंग की.

इस हमले में 45 साल के अहमद की तुरंत मौत हो गई, जबकि उनकी पत्नी फरजाना गंभीर रूप से घायल हो गई थीं.

First published: 6 April 2016, 15:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी