Home » इंडिया » o rajagoapal created history in kerala by winning first ever assembly seat in state
 

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 May 2016, 15:47 IST
(विकीकॉमंस)

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता �" राजा�--ोपाल ने केरल की नेमोम विधान सीट जीत कर इतिहास रच दिया है. बीजेपी इससे पहले राज्य में कभी कोई विधान सभा या लोक सभा सीट नहीं जीती थी.चार राज्यों �"र एक केंद्र शासित प्रदेश के लिए हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे �--ुरुवार को घोषित हुए. वाम �--ठबंधन को राज्य में बहुमत प्राप्त हुआ है. राज्य में बीजेपी ने नव�--ठित भारत धर्म जन सेना (बीडीजेएस) के साथ �--ठबंधन में चुनाव लड़ा था.�...टल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री रहे राजा�--ोपाल ने �...पने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सीपीआई (एम) के वी शिवनकुट्टी को आठ हजारों से �...धिक वोटों से हराया.

जनसंघ से शुरुआत

1985 में बीजेपी ने राष्ट्रीय राजनीति में ले आई. इस दौरान वो बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव, राष्ट्रीय महासचिव �"र राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जैसे पदों पर रहे.1989 में उन्होंने केरल की मंजेरी से �"र 1991 में त्रिवेंद्रम(तिरु�...नंतपुरम) से लोक सभा चुनाव लड़े लेकिन जीत नहीं सके.बीजेपी ने 1992 में पहली बार मध्य प्रदेश से राज्य सभा भेजा. 1998 में पार्टी की तरफ से उन्हें दोबारा राज्य सभा में भेजा �--या.केरल के पूर्व मु�-्यमंत्री �"र पूर्व केंद्रीय मंत्री एके एंटोनी ने कभी राजा�--ोपाल को केंद्र में केरल का राजदूत कहा था1999 �"र 2004 के आम चुनाव में राजा�--ोपाल त्रिवेंद्रम लोक सभा सीट से चुनाव लड़े लेकिन दोनों बार उन्हें हार मिली.2011 के राज्य विधान सभा चुनाव में वो नेमोम सीट से चुनाव लड़े. इस बार उन्हें करीब छह हजार वोटों से हार का सामना करना पड़ा. जून 2012 में हुए नेयात्तिनकारा विधान सभा उप-चुनाव में भी उन्हें जीत नहीं मिली. 2014 के आम चुनाव में वो त्रिवेंद्रम लोक सभा से प्रत्याशी थे लेकिन कां�--्रेस प्रत्याशी शशि थरूर से हुए मुकाबले में उन्हें हार का सामना करना पड़ा. जून 2015 में राज्य के �...रुविक्करा विधान सभा उप-चुनाव में भी हार का मुंह दे�-ना पड़ा.

हार नहीं मानने वाले नेता

लोक सभा �"र विधान सभा के कुल नौ चुनावों में हारने के बाद राजा�--ोपाल को मौजूदा चुनाव में पहली बार जीत का स्वाद च�-ा. राज्य में बीजेपी को पहली जीत दिलाकर उन्हें �...पनी जीत को ऐतिहासिक बना दिया है.केरल के पूर्व मु�-्यमंत्री �"र पूर्व केंद्रीय मंत्री एके एंटोनी ने कभी उन्हें केंद्र में केरल का राजदूत कहा था. राज्य में बीजेपी का �-ाता �-ोलकर �...ब वो केरल की चुनावी राजनीति में दक्षिणपंथ के �...�--्रदूत बन �--ए हैं.

First published: 21 May 2016, 15:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी