Home » इंडिया » OBC and SC-ST amendment bill passed in parliament PM Modi says August Kranti
 

OBC आयोग को मिला संवैधानिक दर्जा, SC-ST बिल पास होने को PM मोदी ने बताया 'अगस्त क्रांति'

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 August 2018, 13:46 IST

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने से संबंधित संविधान संशोधन विधेयक को संसद की मंजूरी मिल गयी. सोमवार को राज्यसभा ने ‘संविधान (123वां संशोधन) विधेयक को 156 के मुकाबले शून्य मतों से पारित कर दिया. लोकसभा इसे पहले ही पारित कर चुकी है. 

संविधान संशोधन होने के नाते विधेयक पर मत विभाजन किया गया, जिसमें सभी 156 सदस्यों ने इसके पक्ष में मतदान किया. चर्चा का जवाब देते हुए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि इस विधेयक के पारित होने के बाद राज्यों के अधिकारों के हनन होने के संबंध में कुछ सदस्यों ने जो आशंका व्यक्त की है, वह निर्मूल है. 

पढ़ें- 'हमें कोई समस्या नहीं, ममता बनर्जी या मायावती कोई भी बने PM उम्मीदवार'

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी संसदीय दल की बैठक में कहा कि OBC आयोग को संवैधानिक दर्जा और एससी-एसटी बिल का पास होना सामाजिक न्याय के क्षेत्र में अगस्त क्रांति है. पीएम मोदी ने कहा कि पीढ़ियों तक जो नहीं किया गया वो हमने किया है. हम हर साल 1 अगस्त से 7 अगस्त तक 'अगस्त क्रांति' सप्ताह मनाएंगे.

बीजेपी सदस्यों ने बहस के दौरान विधेयक पर चर्चा करते हुए विपक्षी कांग्रेस पर ओबीसी के हितों की अनदेखी करने का आरोप लगाया. गहलोत ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछड़े वर्गों की उप-श्रेणी बनाने के लिए एक समिति बनाने का एक साहसिक फैसला किया है और रिपोर्ट प्राप्त करने पर यह तेजी से कार्य करेगा.
 
 
कहा जा रहा है कि इस विधेयक को बीजेपी द्वारा इस साल होनेवाले विधानसभा चुनावों व अगले साल लोकसभा चुनावों से पहले ओबीसी के बीच अपने समर्थन को एकजुट करने के तौर पर देखा जा रहा है. पार्टी द्वारा राजस्थान, मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ के चुनाव प्रचार में विधेयक को पारित कराने में अपने प्रयास को बताए जाने की उम्मीद है. इन राज्यों में ओबीसी आबादी का बड़ा हिस्सा है.
First published: 7 August 2018, 13:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी