Home » इंडिया » omar abdullah target on vrender sehwag in Asifa rape case of Kathua jammu and kashmir ask did he not feel ashamed of rape and murder of 8 yr
 

सहवाग के ट्वीट पर भड़के उमर अब्दुल्ला ने पूछा ये सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2018, 8:42 IST

जम्मू और कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची आसिफा के साथ बलात्कार और फिर उसकी हत्या को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला ने पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग से सवाल पूछा है. उमर अब्दुल्ला, सहवाग द्वारा केरल के पलक्कड़ में आदिवासी युवक की हत्या के मामले में किए ट्वीट पर भड़क भी गए.

उन्होंने वीरेंद्र सहवाग से सीधे पूछा कि ”यहां जो हुआ वह घृणित और अमानवीय है लेकिन क्या जम्मू के कठुआ में आठ साल की आसिफा की बलात्कार के बाद हत्या के बाद उस घटना की निंदा करने वाला आपका ट्वीट दिखा सकते हैं? क्या उसने आपको शर्मिंदा नहीं किया?”

 

दरअसल वीरेंद्र सहवाग ने आदिवासी युवक की हत्या पर खेद जताते हुए जो ट्वीट किया था, उसके लिए उन पर मामले को साम्प्रदायिक रंग देने के आरोप लगे थे. इसके बाद सहवाग ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया था.

सहवाग ने ट्वीट में लिखा था, ”मधु ने एक किलो चावल की चोरी की. उबैद हुसैन और अब्दुल करीम की एक भीड़ ने आदिवासी आदमी की पीटकर हत्या कर दी. यह सभ्य समाज पर कलंक है और मैं शर्मिंदा हूं कि ऐसा होने पर कुछ फर्क नहीं पड़ता.”

 

हालांकि पूर्व क्रिकेटर के इस ट्वीट पर लोगों ने उन्हें निशाना बनाना शुरू कर दिया था. इसके बाद उन्होंने अपना पहला ट्वीट डिलीट कर उस पर माफी मांगी थी.

सहवाग ने लिखा, ”गलती को स्वीकार न करना दूसरी गलती है. मैं क्षमा चाहूंगा कि अपूर्ण जानकारी के कारण मुझसे इस आपराधिक घटना में शामिल और नाम छूट गए और मैं इसके लिए मांफी मांगता हूं क्योंकि ट्वीट किसी तरह से साम्प्रदायिक नहीं है. हत्यारे धर्म के अनुसार बंट जाते हैं लेकिन हिंसक मानसिकता के नाम पर एक हो जाते हैं. भगवान वहां शांति बनाए.”

 

गौरतलब है कि 23 फरवरी को केरल से एक खबर आई थी कि वहां के अट्टापड़ी इलाके के 27 वर्षीय आदिवासी युवक मधु की एक दुकान से एक किलो चावल चुराने के आरोप में जमकर पिटाई की गई थी, जिसके बाद अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई थी.

वहीं दूसरी तरफ आठ साल की मासूम आसिफा का शव करीब एक सप्ताह के बाद जम्मू के कठुआ के जंगल से बरामद किया गया था. इस सिलसिले में विशेष पुलिस अधिकारी दीपक खजुरिया को गिरफ्तार किया गया था. हालांकि इसके बाद हाल ही में हिन्दू एकता मंच ने तिरंगे के साथ खजुरिया के समर्थन में रैली निकाली थी. जिसकी निंदा खुद मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने की थी.

First published: 26 February 2018, 8:42 IST
 
अगली कहानी