Home » इंडिया » On Jayalalitha cardiac arrest Apollo hospital taking advice to cardiac specialist from London
 

जयललिता के स्वास्थ्य को लेकर अपोलो ले रहा है लंदन के डॉक्टरों से परामर्श

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 December 2016, 10:03 IST
(एजेंसी)

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता को कल शाम दिल का दौरा पड़ने के बाद चेन्नई स्थित अपोलो अस्पताल के कार्डियोलॉजी एक्सपर्ट लंदन से डॉक्टर रिचर्ड बीयले से सलाह ले रहे हैं.

बताया जा रहा है कि इससे पहले भी जब जयललिता गंभीर रूप से बीमार थीं, तब भी डॉक्टर बीयले चेन्नई आये थे और उनका इलाज किया था.

जयललिता लगभग पिछले दो महीने से चेन्नई के अपोलो अस्पताल में गंभीर स्वास्थ्य वजहों से भर्ती हैं. वहीं कल शाम उन्हें स्पेशल वॉर्ड में दिल का दौरा पड़ा. जिसके बाद उन्हें तत्काल ही अस्पताल के आईसीयू वॉर्ड में शिफ्ट किया गया. आईसीयू में विशेषज्ञ डॉक्टर उनकी देखभाल कर रहे हैं.

इस मामले में अपोलो अस्पताल के मुख्य संचालन अधिकारी और ट्रांसफॉर्मेशन के प्रमुख डॉक्टर सुब्बैया विश्वनाथन ने एक बयान जारी करके बताया, "तमिलनाडु की माननीय मुख्यमंत्री, जिनका अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा है, को रविवार शाम दिल का दौरा पड़ा."

सुब्बैया विश्वनाथन ने कहा, "हृदय रोग विशेषज्ञ, पल्मोनरी रोग विशेषज्ञ और नाजुक स्थिति में देखभाल करने वाले विशेषज्ञों की एक टीम उनका इलाज कर रही है."

विश्वनाथन ने बताया, "लंदन से डॉ. रिचर्ड बीयले से सलाह ली गई है और उन्होंने हमारे हृदय रोग विशेषज्ञों और पल्मोनोलॉजिस्ट्स के उपचार की दिशा से सहमति जताई."

अपोलो अस्‍पताल ने ट्वीट करते हुए कहा, ''उनको एक्‍स्‍ट्राकोरपोरल मेम्‍ब्रेन हार्ट संबंधी डिवाइस पर रखा गया है और वह विशेषज्ञ डॉक्‍टरों और गंभीर मामलों के विशेषज्ञों की निगरानी में हैं.''

वहीं इसके इतर इस खबर के मिलते ही तमिलनाडु सरकार के सभी वरिष्ठ मंत्री अस्पताल पहुंच गये हैं. जयललिता को दिल का दौरा पड़ने की खबर मिलने के बाद अपोलो अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता जमा हो गए.

जयलिलता के दिल के दौरे और गंभीर स्थिति को देखते हुए अपोलो अस्पताल सहित राज्य भर में पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है और सभी पुलिसकर्मियों से सुबह 7 बजे ड्यूटी पर आने को कहा गया है.

इसके अलावा केंद्र सरकार ने भी अपनी ओर से सुरक्षा निर्देश जारी करके अर्ध सैनिकबलों को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने का आदेश दिया है.

First published: 5 December 2016, 10:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी