Home » इंडिया » on rape case juvinail facing court tryal as a adult
 

रेप के मामले में किशोर पर चलेगा वयस्क की तरह मुकदमा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(कैच)

किशोर न्याय बोर्ड ने एक ऐतिहासिक फैसला देते हुए एक रेप के मामले में एक किशोर पर वयस्क की तरह मुकदमा चलाने का आदेश दिया है.

किशोर न्याय कानून 2015 में संशोधन के बाद यह पहला आदेश है. इस संशोधन के जरिए बोर्ड को यह इजाजत दी गई है कि वह बच्चों के किए गए जघन्य अपराधों को सत्र न्यायालय भेज सकता है.

बोर्ड ने कहा कि आरोपी ने इस अपराध को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया. किशोर न्याय बोर्ड के पीठासीन अधिकारी अरुल वर्मा ने किशोर की तरफ से पेश वकील की इस दलील को खारिज कर दिया कि यह लड़की और किशोर के बीच आपसी सहमति वाला संबंध था. बोर्ड ने कहा कि इस दावे के समर्थन में कोई प्रमाण नहीं है.

बोर्ड द्वारा गठित कमेटी की ओर से इस किशोर की उम्र 17 साल आंकी गई है. बोर्ड ने कहा कि रिकॉर्ड और पीड़िता के बयान पर गौर करने से यह भी खुलासा होता है कि किशोर ने सतर्कतापूर्वक और सुनियोजित तरीके से इस कथित बलात्कार को अंजाम दिया.

आरोपी किशोर द्वारा पीड़िता को स्कूल से मोटरसाइकिल से लाया गया और फिर उसे कार से ले जाया गया. इसके बाद शराब खरीदी और फिर फ्लैट में गए. जहां किशोरी के साथ रेप किया गया था.

First published: 18 August 2016, 12:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी