Home » इंडिया » Open letter by sexually harassed woman angry at Pachauri's TERI return
 

टेरी में आरके पचौरी की नियुक्ति: पीड़िता ने कहा 'शर्मनाक'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

आरके पचौरी को द एनर्जी एंड रिसोर्स इंस्टीट्यूट (टेरी) का कार्यकारी उपाध्यक्ष बनाए जाने को उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिला ने शर्मनाक बताया है.

टेरी की कड़ी आलोचना करते हुए पीड़ित महिला ने मंगलवार को कहा कि इस फैसले ने उसके रोंगटे खड़े कर दिये हैं. वह इस मामले को तार्किक अंजाम तक ले जाएगी.

पिछले साल फरवरी में टेरी के तत्कालीन डायरेक्टर जनरल आरके पचौरी के खिलाफ संस्था की ही एक रिसर्चर ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. मामले की जांच करने के लिए बनी एक आतंरिक कमेटी ने पचौरी को दोषी पाया था.

इसके बाद पिछले साल जुलाई में पचौरी को टेरी प्रमुख के पद से हटा दिया गया था. पचौरी फिलहाल जमानत पर हैं.

'टेरी का पूरा माहौल मेरे खिलाफ हो गया था'

पीड़िता ने टेरी को लिखे खुले पत्र में कहा है, 'पूरी बेशर्मी. कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न, पीछा करने और आपराधिक धमकी के आरोपों का सामना कर रहे व्यक्ति को पदोन्नति के समाचार ने उसके रोंगटे खड़े कर दिये हैं.'

इस मामले में पचौरी के वकील आशीष दीक्षित ने कहा कि नियुक्ति में कुछ भी गलत नहीं है. शिकायतकर्ता विवाद को जिंदा रखने और अदालती कार्यवाही में विलंब करने का प्रयास कर रही है.

वहीं टेरी ने कहा कि नियमों का पूरी तरह पालन करने के बाद पचौरी को कार्यकारी उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

First published: 10 February 2016, 1:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी