Home » इंडिया » Operation Black Money: ED raids acroos India around 300 companies under scanner
 

ऑपरेशन ब्लैक मनी: ईडी की देश भर में छापेमारी, रडार पर 300 कंपनियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 April 2017, 16:59 IST

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देशभर में काले धन के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन छेड़ा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशों के बाद ईडी ने शनिवार को देशभर में एक साथ सौ से ज्यादा जगहों छापे मारे हैं. इसमें दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, भुवनेश्वर और कोलकाता जैसे बड़े शहर भी शामिल हैं.

ईडी उन फर्जी कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही हैं, जिनका संबंध कालेधन को सफेद करने से था. बताया जा रहा है कि ऐसी तकरीबन तीन सौ कंपनिया ईडी के रडार पर हैं, जिन्होंने सौ करोड़ से ज्यादा ब्लैक मनी को सफेद किया है.

ईडी के अधिकारी ऐसी कंपनियों के दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं, जिन पर शेल कंपनी होने का शक है.  देश भर में 300 से ज्यादा शेल कंपनियो के ठिकानों पर छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है. 

16 राज्यों के 100 शहरों में बड़ा ऑपरेशन

300 से ज्यादा शेल कंपनियों पर काले धन को सफेद करने का आरोप है. देश के सोलह राज्यों में सौ से ज्यादा शहरों में ईडी की टीम छापे की कार्रवाई में जुटी है. चंडीगढ, पटना, रांची अहमदाबाद जैसे दर्जनों बड़े शहरों मे ईडी की टीमें एक साथ छापे मार रही हैं.

सूत्रो के मुताबिक़ छापे के दौरान कई अहम दस्तावेज बरामद हुए हैं. जिनमें कई सौ करोड़ के लेनदेन के अहम सबूत मिले हैं. देश के बड़े-बड़े कारोबारियों से लेकर नेता भी इस काले खेल में शामिल हो सकते हैं.

चंडीगढ़ के सेक्टर 17 के मध्य मार्ग पर स्थित प्रिना होल्डिंग नाम की कंपनी पर भी ईडी ने रेड डाली है. ईडी की टीम को शक है कि इस तरह की कंपनियों के जरिए नोटबंदी के दौरान काफी काला धन सफेद किया गया है. आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस के नेता वाई एस जगन मोहन रेड्डी से जुड़ी शेल कंपनियों (राजेश्वर एक्सपोर्ट्स और दूसरी कंपनियां) को भी ईडी ने जांच के दायरे में लिया है.

First published: 1 April 2017, 16:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी