Home » इंडिया » Opposition attacks Modi Government on the occasion of its second anniversary, political reactions hits and misses
 

मोदी सरकार के दो साल पर विपक्ष लाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 May 2016, 15:14 IST
(गेट्टी इमेजेज)

जहां एक ओर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार अपने दो साल पूरे होने पर उपलब्धियों का दावा करते हुए जश्न मना रही है, वहीं कांग्रेस समेत विपक्ष ने सरकार पर जमकर निशाना साधा है.

ग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मोदी सरकार के अब तक के कार्यकाल पर सवाल उठाए. कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा, "भाषणवीर मोदी दो साल में कर्मवीर नहीं बन पाए. ओनली भाषण, नो शासन."

आजाद ने इस दौरान कहा, "महत्वपूर्ण सेक्टर में विकास न के बराबर है. रुपया गिर रहा है. महंगाई काफी बढ़ गई है. इस सरकार की बड़ी उपलब्धियां हैं, सामाजिक तनाव पैदा करना, बीजेपी नेताओं के जरिए उकसाना, गैर जरूरी विवाद और भीड़ की हिंसा."

'किसका साथ, किसका विकास?'

बीजेपी ने अपने चुनाव अभियान के दौरान सबका साथ, सबका विकास नारे के साथ समर्थन मांगा था. कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए एक स्लोगन जारी किया है. जिसके बोल हैं, देश मांगे हिसाब, किसका साथ किसका विकास?

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सरकार पर शायराना अंदाज में निशाना साधते हुए कहा, "या रब वो न समझते हैं न समझेंगे मेरी बात, दे और दिल उनको जो न दे मुझको जुबान और."

'वक्त है बदल जा'

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा, "जब हम सत्ता में थे, तो कहा जाता था कि कांग्रेस पाकिस्तान को प्रेम पत्र लिख रही है, और अब प्रधानमंत्री वहां शादी और बर्थडे पार्टी में शामिल होने जाते हैं."

सिब्बल ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा, "खुदा के बंदे संभल जा, वक्त है अब भी बदल जा."

'कोई लौटा दे बीते दिन'

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने भी सरकार पर हमला बोला. तिवारी ने कहा, "प्रधानमंत्री और बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान जनता से जो वादे किए थे, उनमें से एक भी पूरा नहीं हुआ है."

अहमदाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मनीष तिवारी ने कहा, "अच्छे दिन कहां आने थे. लोगों ने ये गुणगान शुरू कर दिया है कि कोई लौटा दे मेरे बीते हुए दिन."

वहीं कांग्रेस के बयान पर पलटवार करते हुए केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, "कांग्रेस हर दिन अपनी प्रासंगिकता खोती जा रही है. हम तो डूबेंगे सनम, तुमको भी ले डूबेंगे. ये कांग्रेस का दर्शन है."

'विज्ञापन पर 1000 करोड़'

इस बीच आम आदमी पार्टी ने भी मोदी सरकार के दो साल के जश्न पर हमला बोला है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा, "मोदी सरकार सिर्फ दो साल पूरे होने पर विज्ञापनों पर भारी पैसा खर्च कर रही है. सूत्रों के मुताबिक ये एक हजार करोड़ से ज्यादा है. जबकि दिल्ली के कुल विभागों का एक साल का खर्च सिर्फ डेढ़ सौ करोड़ रुपये है."

आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने ट्विटर पर सवाल उठाते हुए लिखा, "मोदी सरकार आठ हजार सिनेमा हॉल, सभी टेलीविजन चैनल और देशभर के अखबार में विज्ञापन देकर जश्न मना रही है. एक दिन के जश्न के लिए इतना कुछ?"

First published: 26 May 2016, 15:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी