Home » इंडिया » organisation changes in congress party digvijay singh says he is happy as rahul gandhi is picking new team and leaders
 

गोवा में मिली हार के बाद दिग्विजय सिंह पर गिरी गाज, बोले- 'मैं नेहरू-गांधी परिवार का वफादार हूं'

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2017, 8:50 IST

गोवा विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनने के बावजूद राज्य में सरकार नहीं बना पाने के कुछ हफ्तों बाद शनिवार (29 अप्रैल) को कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह से गोवा के प्रभारी महासचिव की जिम्मेदारी वापस ले ली.

कांग्रेस में संगठन में बदलाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. दिग्विजय सिंह की जगह के सी वेणुगोपाल को कर्नाटक का प्रभारी बनाया गया है. वहीं चेल्ला कुमार को गोवा का प्रभार दिया गया है. कर्नाटक के प्रभार के अलावा के सी वेणुगोपाल को पार्टी में महासचिव का पद भी दिया गया है.

आपको बता दें कि गोवा के चुनावी नतीजों में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार नहीं बना पाई थी. ऐसे में दिग्विजय सिंह की भूमिका पर सवाल उठ रहे थे. पार्टी के इस फैसले पर प्रतिक्रिया करते हुए दिग्विजय ने कहा है कि वह इस बदलाव से खुश हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा नई टीम चुने पर उन्हें काफी खुशी हुई है. दि

ग्विजय ने ट्वीट में लिखा, 'मैं बहुत खुश हूं. आखिरकार यह नई टीम राहुल द्वारा चुनी गई है. गोवा और कर्नाटक में कांग्रेस नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ काम करते हुए मुझे बहुत मजा आया. उन सबके सहयोग के लिए मैं उनका आभारी हूं. मैं कांग्रेस पार्टी और नेहरू-गांधी परिवार का वफादार हूं. मैं पार्टी में आज जो कुछ भी हूं, वह सबके उन्हीं की वजह से है.'

पार्टी में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद संगठन स्तर पर बदलाव की प्रक्रिया को लेकर कई दिन से अटकलों का बाजार गर्म था. पार्टी के भीतर फेरबदल की शुरुआत करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एआईसीसी सचिव ए चेला कुमार को पार्टी ने गोवा का प्रभार सौंपा.

कर्नाटक में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले है तथा पार्टी राज्य में फिर से सत्ता हासिल करने की तैयारियों में जुटी है. कर्नाटक में एम टैगोर, पी सी विश्वनाथ, मधु यक्षी गौड़ा और डा. एस सज्जीनाथ को भी राज्य में पार्टी प्रभारी सचिव की जिम्मेदारी दी गई है. अमित देशमुख को गोवा का प्रभारी सचिव बनाया गया है. इसके अलावा पार्टी ने केन्द्रीय चुनाव प्राधिकार का गठन कर मुल्लापल्ली रामचन्द्रन को इसका अध्यक्ष बनाया है. भुवनेश्वर कालिता और मधुसूदन मिस्त्री को इस प्राधिकार का सदस्य बनाया गया है.

कुल मिलाकर एक झटके से बड़ा बदलाव करने की बजाय कांग्रेस आलाकमान आहिस्ता आहिस्ता संगठन में फेरबदल की प्रक्रिया शुरू कर चुका है. सुशील कुमार शिंदे, जितेंद्र सिंह, ज्योतिरादित्य सिन्धिया सरीखे नेताओं को महासचिव बनाया जा सकता है. इसके अलावा राहुल के करीबी युवा नेताओं को सचिव बनाया जाएगा.

First published: 30 April 2017, 8:49 IST
 
अगली कहानी