Home » इंडिया » over graduates unemployed from 12th pass in rural areas says government reports
 

खोखले निकले सरकार के नौकरी देने वाले दावे, देश में ग्रेजुएट बेरोजगारों की भरमार

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 March 2018, 14:33 IST
(file photo)

सरकार भले ही लाखों युवाओं को नौकरी देने का दावा करती हो, लेकिन हकीकत कुछ और ही बयां करती है. देश में 29 साल तक के करीब 24 फीसदी युवा बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं. ऐसे में सरकार के नौकरी देने वाले दावे खोखले साबित होते हैं. इन बेरोजगारों में सबसे अधिक ग्रामीण इलाकों के युवा शामिल हैं.

देश में  12वीं पास से ज्यादा ग्रेजुएट युवा बेरोजगार

इस बात का खुलासा खुद श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने लोकसभा में सोमवार को किया है. उन्होंने कहा कि देश के देश के ग्रामीण क्षेत्रों में 29 वर्ष की आयु तक के 23.9 फीसदी ऐसे युवा बेरोजगार हैं. जिन्होंने ग्रेजुएट या इससे ऊपर की शिक्षा हासिल कर रखी है. बता दें कि लोकसभा में सदाशिव लोखंडे के प्रश्न के लिखित उत्तर में श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने यह जानकारी दी कि 12वीं पास से ज्यादा ग्रेजुएट बेरोजगार हैं.

गंगवार ने अपने मंत्रालय की अधीनस्थ संस्था श्रम ब्यूरो की ओर से 2015-16 में ग्रामीण क्षेत्रों में कराए गए सर्वेक्षण के आंकड़े पेश किए हैं. इन आंकड़ों के मुताबिक 18 से 29 वर्ष तक के 2.3 फीसदी अशिक्षित युवा बेरोजगार हैं तो दूसरी तरफ ग्रेजुएट या उससे ऊपर तक की पढ़ाई करने वाले युवाओं में 23.8 फीसदी बेरोजगार हैं. मंत्री ने इस सर्वेक्षण के हवाले से कहा कि प्राथमिक स्तर की पढ़ाई करने वाले 3.3 फीसदी और माध्यमिक/उच्चतर माध्यमिक की पढ़ाई करने वाले 3.7 फीसदी युवा बेरोजगार हैं.

किस राज्य में कितने फीसदी युवा बेरोजगार

श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार बेरोजगारों का राज्यवार ब्यौरा भी पेश किया है. इसके अनुसार सिक्किम में ग्रेजुएट या इससे ऊपर तक की डिग्रीधारकों में 82.5 फीसदी युवा बेरोजगार हैं. इसी तरह लक्षद्वीव में 73 फीसदी, त्रिपुरा में 50.3 फीसदी, झारखंड में 39 फीसदी और हिमाचल प्रदेश में 40.8 फीसदी स्रातक युवा बेरोजगार हैं. दूसरी तरफ, एक प्रश्न के उत्तर में मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिए जाने का कोई प्रस्ताव नहीं है. मंत्री ने कहा कि बिहार में पहले से ही तीन केंद्रीय विश्वविद्यालय- दक्षिण बिहार केंद्रीय विश्वविद्यालय, महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय और नालंदा विश्वविद्यालय चल रहे हैं.

First published: 6 March 2018, 14:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी