Home » इंडिया » Oxford Covid vaccine may be first to get govt nod for emergency use: Report
 

ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी को जल्द मंजूरी दे सकता है भारत- रिपोर्ट में दावा

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2020, 22:23 IST

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस के कारण भारत में एक 1 करोड़ 1 लाख 78 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि 1 लाख 47 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. भारत में अभी भी कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर स्थिति साफ नहीं है, लेकिन केंद्र सरकार के कहने के बाद सभी राज्य सरकारों ने वैक्सीन को स्टोर करने और शुरूआत में किसे वैक्सीन लगाई जाएगी, इसकी तैयारी कर ली है.

वहीं मीडिया रिपोर्ट की मानें तो आने वाले दिनों में सरकार ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे सकती है. हालांकि, भारत में ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी मिलेगी या नहीं, यह काफी हद तक ब्रिटेन के फैसले पर निर्भर करेगा.


न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, अगर ब्रिटेन ऑक्सफोर्ड की कोविड-19 वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे देता है तो इसके बाद भारत में कोरोना के जंग के खिलाफ लड़ाई के लिए बनाई गई CDSCO की कमेटी बैठक करेगी और इस बैठक में विदेश और भारत में किए गए ट्रायल के क्लीनिकल डेटा की जांच करेगी.

भारत में बन रही भारत बायोटेक की वैक्सीन अभी क्लीनिकल ट्रायल के तीसरे चरण में है. दूसरी तरफ फाइजर को कमेटी द्वारा अभी और डेटा जमा करने के लिए कहा गया था. ऐसे में ऑक्सफोर्ड की कोविशील्ड देश में कोरोना वायरस के खिलाफ इस्मेताल होने वाली पहली वैक्सीन बन सकती है.

भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजैनेका वैक्सीन का निर्माण पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कर रही है और बीते दिनों ही सीरम ने वैक्सीन के ट्रायल से जुड़े आवश्यक जानकारी ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया को दी है. भारत बायोटेक, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और फाइजर ने ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया से मुलाकात कर COVID-19 वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग की मंजूरी की मांग की है.

केंद्रीय ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) की 9 दिसंबर को COVID-19 की विषय विशेषज्ञ समिति (SEC) ने सीरम और भारत बॉयोटेक की कोरोना वैक्सीन के लिए हुए ट्रायल से जुड़ी और जानकारी मांगी थी.

पुणे स्थित SII, दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी है, जिसने वैक्सीन के निर्माण के लिए ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और एस्ट्राजेनेका के साथ करार किया है.

oronavirus: दिल्ली में मास्क बनाने वाली फैक्ट्री में लगी भीषण आग, एक शख्स की जलकर दर्दनाक मौत

First published: 26 December 2020, 22:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी