Home » इंडिया » Pak high commission staff arrested on alleged to theft defence document
 

जासूसी के आरोप में पकड़े गए पाक उच्चायोग के अफसर को भारत छोड़ने का आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(एएनआई)

पाकिस्तान हाई कमीशन के एक कर्मचारी को गोपनीय रक्षा कागजात चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. इस संबंध में खुफिया एजेंसियों को शक है कि वह कर्मचारी पाकिस्तान के लिए भारत में रहकर जासूसी कर रहा था.

हालांकि उसे राजनयिक छूट होने की वजह से रिहा कर दिया गया है. भारत के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी महमूद अख्तर को 48 घंटे के अंदर देश छोड़ने के लिए कहा है.

दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर रवींद्र यादव ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस जासूसी नेटवर्क के बारे में जानकारी दी. दिल्ली पुलिस के मुताबिक महमूद के अलावा मौलाना रमज़ान और सुभाष जांगीड़ भी जासूसी कर रहे थे.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक गोपनीय दस्तावेज मुहैया कराने के लिए आरोपियों को मोटा पैसा मिलता था. तीनों संदिग्ध जासूसों को दिल्ली के जू से हिरासत में लिया गया.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक पाकिस्तानी उच्चायोग के कर्मचारी के पास बीएसएफ की तैनाती और रक्षा तैनाती नक्शों से संबंधित दस्तावेज थे. गिरफ्तारी के वक्त महमूद के पास से कई अहम रक्षा दस्तावेज मिले हैं.

इस गिरफ्तारी के बाद विदेश मंत्रालय ने मामले में पाकिस्तान के हाईकमिश्नर अब्दुल बासित को समन कर पेश होने को कहा. इस मामले में दिल्ली पुलिस ने विदेश मंत्रालय को रिपोर्ट भेजी है. वहीं क्राइम ब्रांच ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह और एलजी नजीब जंग को भी ब्रीफ किया है.

बताया जा रहा है कि गिरफ्तार अधिकारी की तैनाती भारत में पिछले साल हुई थी. करीब साल भर से वह सेना के अफसरों से संपर्क साधने की कोशिश कर रहा था.

First published: 27 October 2016, 11:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी