Home » इंडिया » Pakistan breaks ceasefire more than 100 times at LoC after Pulwama Attack
 

फितरत से बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, पुलवामा हमले के बाद 100 से ज्यादा बार तोड़ा सीजफायर

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 March 2019, 15:15 IST

पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद अभी भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान समर्थित आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक की थी. इसके बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. पुलवामा हमले से लेकर अब तक पाकिस्तान की ओर से 100 से ज्यादा बार सीजफायर का उल्लंघन किया जा चुका है, जबकि पाकिस्तानी पीएम इमरान खान कह चुके हैं कि वह दोनों देशों के बीच शांति चाहते हैं.

6 मार्च की पूरी रात भी सीमापार से जम्मू-कश्मीर के रजौरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर में भीषण गोलाबारी होती रही. इसके अलावा पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में बुधवार तड़के गोलीबारी हुई. अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान ने रजौरी के नौशेरा सेक्टर में भी अग्रिम इलाकों को निशाना बनाया.

वहीं अब भारतीय सेना ने भी पाकिस्तानी सेना को फुल एंड फाइनल चेतावनी जारी कर दी है. भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा पर असैन्य इलाकों को निशाना बनाने को लेकर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी जारी करते हुए कहा, "उकसावे की कार्रवाई या दुस्साहस के गंभीर परिणाम होंगे."

भारतीय सेना ने कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर पाकिस्तानी फौज नागरिकों को निशाना बनाना जारी रखेगी तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. सेना ने कहा था, "हमने पाकिस्तानी सेना को चेतावनी दी है कि वह नागरिकों को निशाना बनाना बंद करे. एलओसी पर अपेक्षाकृत शांति है. हालांकि, पिछले 24 घंटे में पाकिस्तानी सेना ने कृष्णा घाटी और सुंदरबनी में बिना उकसावे के अधिक क्षमता वाले हथियारों से गोलीबारी की है."

पाकिस्तान ने 155 एमएम तोपों से नौशेरा सेक्टर में अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया था. इसका जवाब भारतीय सेना ने बोफोर्स तोप से दिया. दोनों सेनाओं के सैन्य अधिकारियों ने मंगलवार को हॉटलाइन पर बात की थी. बातचीत के दौरान भारत ने पाकिस्तान से नियंत्रण रेखा पर असैन्य आबादी को निशाना नहीं बनाने को कहा था. लेकिन पाकिस्तान अपनी फितरत से बाज नहीं आ रहा है.

पढ़ें- इंडियन आर्मी ने पाकिस्तान को दी गंभीर चेतावनी, अगर अब नागरिकों को निशाना बनाया तो..

First published: 7 March 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी