Home » इंडिया » Pakistan Foreign Ministry Spokesperson Twitter Handle Suspend
 

पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का टि्वटर हैंडल सस्पेंड, भारत ने की थी शिकायत

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 February 2019, 11:08 IST

पुलवामा हमले के बाद भारत पाकिस्तान के खिलाफ सबूत इकट्ठा करने मे जुटा है. इसी बीच भारत की शिकायत के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का निजी ट्विटर हैंडल सस्पेंड कर दिया गया.

खबरों के मुताबिक, ट्विटर ने मंगलवार की रात पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल (@DrMFaisal) का निजी ट्विटर हैंडल सस्पेंड कर दिया है. ट्विटर की इस कार्रवाई का अभी तक कोई अधिकारिक बयान नहीं आया है.

बताया जा रहा है कि फैसल अपने ट्विटर अकाउंट से कुलभूषण जाधव केस की लगातार जानकारी साझा कर रहे थे. कुलभूषण के केस की सुनवाई अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में चल रही है. इसके साथ ही फैसल पर आरोप है वे कश्मीर के बारे में भी लगातार टिप्पणी कर रहे थे.

बता दें कि पाकिस्तान ने भारत पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में आरोप लगाया कि कुलभूषण जाधव पाकिस्तान में आतंकी और विध्वंसक गतिविधियों में संलिप्त था, जो कि भारतीय नीति की वास्तविक अभिव्यक्ति है. पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल अनवर मंसूर खान ने कहा, "आजादी के बाद से ही भारत, पाकिस्तान को बर्बाद करने की नीति चला रहा है और यह पिछले कुछ सालों में यह कई रूपों और अभिव्यक्तियों के जरिए सामने आई है."

मंसूर खान ने अंतराष्ट्रीय न्यायालय में सुनवाई के दौरान भारत पर आरोप लगाते हुए कहा, "जाधव भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ (RAW) के अधिकारी हैं और रॉ ने उन्हें बलूचिस्तान पर हमला करवाने के लिए भेजा था. उन्होंने कहा कि उनका नाम एफआईआर में उनकी गतिविधियों के लिए उसकी न्यायिक स्वीकारोक्ति से पहले से है."

बता दें कि हरीश साल्वे ने पाकिस्तान पर आरोेप लगाया था कि पाकिस्तान वियना संधि का भी उल्लंघन किया है. साल्वे का आरोप है कि जाधव के मुकदमे में कोई सही प्रक्रिया नहीं अपनाई गई, इसलिए उसे तत्काल रिहा किया जाना चाहिए. भारत के पूर्व सॉलीस्टिर जनरल साल्वे ने कहा कि जासूसी के लिए जाधव को हिरासत में रखना 'गैर-कानूनी' है. जबकि पाकिस्तान का दावा है कि जाधव एक भारतीय जासूस है. वहीं भारत का कहना है कि वह एक सेवानिवृत्त नौसेना अधिकारी है जिसे अपहरण कर लिया गया था. पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल अनवर मंसूर ICJ में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे.

बता दें कि भारतीय नौसेना के अधिकारी कुलभूषण जाधव को जासूसी के मामले में पाकिस्तान स्थित मिलिट्री कोर्ट ने 2 साल पहले 2017 में अप्रैल में मौत की सजा सुनाई थी. इस फैसले के खिलाफ भारत ने मई 2017 में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में अपील दाखिल की थी. बता दें कि पाकिस्तान ने जासूसी के आरोप में कुलभूषण को मार्च, 2016 में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था.

First published: 20 February 2019, 10:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी