Home » इंडिया » Pakistan has agreed to ban masood azhar after the pulwama attack
 

पाकिस्तान की चाल, मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए राजी लेकिन रखी ये शर्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2019, 9:11 IST

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए भारत जी तोड़ कोशिश कर रहा है. इस बीच पाकिस्तान मसूद पर प्रतिबंध लगाने को राजी हो गया, लेकिन प्रतिबंध लगाने से पहले उसने भारत के साथ कुछ शर्तें रखीं हैं.

एक पाकिस्तानी टीवी शो में पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने रविवार को कहा, "हमें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) द्वारा मसूद अजहर को वैश्विक आतंकियों की सूची में डालने से कोई दिक्कत नहीं है, बशर्ते इसका आधार पुलवामा हमला न हो."

प्रवक्ता फैसल ने कहा, "पहले भारत को इस बात का सुबूत देना होगा कि पुलवामा हमले से मसूद अजहर का कोई संबंध है. इसके बाद ही हम उसको प्रतिबंधित करने के बारे में बात कर सकते हैं. पुलवामा हमला एक अलग मुद्दा है. हम कई बार कह चुके हैं कि भारत कश्मीर में स्थानीय विरोध को कुचलने की कोशिश कर रहा है."

 

गौरतलब हो कि पाक विदेश मंत्रालय प्रवक्ता फैसल का ऐसे मौके पर ये बयान आया है जब ब्रिटेन ने हाल ही में ये उम्मीद जताई है कि जल्द ही मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित किया जाएगा. बता दें कि 14 फरवरी को हुए पुलवामा आतंकी हमले में कई सीआरपीएफ जवानों की मौत हो गई थी, इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. मसूद जैश-ए-मोहम्मद का सरगना है.

PM मोदी के इस बयान से ममता बनर्जी के खेमे में खलबली, TMC नेता ने कहा- हॉर्स ट्रेडिंग की शिकायत EC से करेंगे

चीन बना है मसूद की ढाल

बता दें कि पुलवामा हमले के बाद आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव लाया गया था. जिसका विरोध चीन द्वारा किया गया और उसने अपने वीटो पावर का इस्तेमाल कर मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित नहीं होने दिया. ऐसा पहली बार नहीं हुआ था, बल्कि चीन ये चौथी बार कर चुका है. यह प्रस्ताव अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने दिया था, जिसमें मसूद को यूएनएससी की 1267 अलकायदा प्रतिबंध समिति के प्रावधानों के तहत प्रतिबंध करने की बात सामने रखी गई थी.

मोदी-शाह के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

First published: 30 April 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी